AddText 07 04 04.36.57

प्रदेश में लोगों को सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) के सभी लाभ अब जन आधार कार्ड के माध्यम से उपलब्ध कराए जाएंगे। यानी अब राशन की दुकान पर मिलने वाला गेहूं और चीनी जन आधार कार्ड से ही मिलेगी। अब तक राशन का वितरण आधार कार्ड से होता आया है। पायलट प्रोजेक्ट के अंतर्गत गुरुवार से 10 लाख एनएफएसए राशन कार्डधारी परिवार के सदस्यों का जन आधार कार्ड से सीडिंग का कार्य शुरू किया गया।

Also read: बड़ी खबर : मुजफ्फरपुर से यशवंतपुर के बीच चलने वाली समर स्पेशल ट्रेन के फेरे को अब बधा दिया गया है, जानिये समय-सारणी

 कार्डधारी परिवारों की लगभग 98 प्रतिशत सीडिंग जन आधार कार्ड से हो चुकी है। इनमें से लगभग 82 फीसदी सदस्यों की मैपिंग भी हो गई है। शेष १8 फीसदी के राशन कार्ड के डेटाबेस का जन आधार के डेटाबेस से केवाईसी के मार्फत सीडिंग का कार्य चरणबद्ध रूप से किया जाएगा।

Also read: इतनी भीषण गर्मी में बिहार जाने वाली ये ट्रेन हो गई 10 घंटे लेट, यात्री हुए गुस्से से लाल सोशल मीडिया पर निकाली अपनी भरास!

प्रथम चरण में 95 ब्लॉक में कार्य
प्रदेश में प्रथम चरण में 59 ग्रामीण और 36 शहरी सहित 95 ब्लॉक में राशन डीलर संबंधित परिवारों से निर्धारित प्रपत्र में सूचनाएं भरवाएंगे। 

Also read: Vande Bharat Train : पटना, आरा, बक्सर होते हुए बिहार से राजधानी दिल्ली के लिए रवाना होगी वंदे भारत एक्सप्रेस, जानिए…

Also read: Gold Silver Price Today : कितने दिनों बाद आज फिर अचानक मुंह के बल गिरा सोना का भाव देख ले, आपके इधर कितना लुढका दाम…

सोनू मूल रूप से बिहार के समस्तीपुर जिला के रहने वाले है पिछले 4 साल से डिजिटल पत्रकारिता...