दो साल के बच्चे के साथ फुल टाइम नौकरी की, फिर भी UPSC निकाल बन गई IAS अधिकारी: IAS बुशरा बानो

देश प्रेम एक ऐसी भक्ति है जो आदमी को खुद से ज्यादा अपने देश के बारे मे सोचने पर मजबूर करती हैं। आज हम बात करेंगे, एक ऐसे ही महिला बुशरा बानो (IAS Bushra Bano) की, जिन्होनें अपने देश के बारे मे सोचते हुए विदेश से असिस्टेंट प्रोफ़ेसर का नौकरी छोड़ कर स्वदेश लौटी और खुद से ही सोशल मीडिया के सहारे पढ़ाई करके UPSC की परीक्षा पास की।

आईएएस बुशरा बानो (IAS Bushra Bano) उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कन्नौज (Kannauj) की रहने वाली महिला हैं। वे एक मध्यवर्गीय परिवार से आती है। वे अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी की रेजिडेंशियल कोचिंग अकादमी की भी छात्रा भी रही हैं। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) से पीएचडी मैनेजमेंट करने के दौरान ही बुशरा बानो की शादी मेरठ के असमर हुसैन(Asamar Husain) से हुई। उनके पति असमर हुसैन ने एएमयू से इंजीनियरिंग की डिग्री लेकर सउदी अरब की एक यूनिवर्सिटी में पढ़ाने का काम करते थे। बुशरा बानो ने भी शादी के बाद 2014 में सउदी अरब गई। वहाँ वे भी असिस्टेंट प्रोफेसर बन गयी।

अपने सफलता के बारे में बताते हुए बुशरा बानो का कहना है कि, वे बिना किसी कोचिंग क्लास के ही UPSC में सफलता हासिल की है। उनका कहना है कि क्‍योंकि कोचिंग के लिए उनके पास समय नहीं था। इसलिए उन्‍होंने तैयारी करने के लिए सोशल मीडिया के सहारे पढ़ाई करती थी।

ऐसे आमतौर पर लोगों का कहना है कि, एग्जाम की तैयारी करते समय सोशल मीडिया से दूर रहना चाहिए लेकिन वे सोशल मीडिया के सहारे ही परीक्षा की तैयारी करती थी। उनके अनुसार, जिस काम को ठाना जाए उसको पुरा करने के लिए मन में लग्न होना चाहिए।