बिहार के 12 जिलों के लिए अलर्ट जारी, मानसून ने असम में दिखाया असर

दक्षिण-पश्चिम मानसून रविवार को असम में दस्तक दे चुका है। उसके बंगाल की ओर मुड़ने के आसार हैं। उसके बाद बिहार एवं झारखंड में प्रवेश करेगा। प्रदेश में पश्चिमी हवाओं के कारण फिलहाल काफी गर्मी पड़ रही है। तेज धूप के साथ उमस परेशानी पैदा कर रही है।

पटना मौसम विज्ञान केंद्र के विज्ञानी संजय कुमार का कहना है कि सभी की नजर मानसून पर टिकी है। अगले 24 घंटे में पता चल जाएगा कि मानसून कितने दिनों में बंगाल की ओर मुड़ता है। फिलहाल प्रदेश में पश्चिमी हवाओं के कारण काफी गर्मी और उमस है। ज्यादा नमी वाले क्षेत्रों में आंधी के साथ बारिश भी हो रही है। पटना में स्थित मौसम विज्ञान विभाग के केंद्र ने बिहार के 12 जिलों के लिए 10 जून तक येलो अलर्ट जारी किया है।

यह भी पढ़ें  2 रुपये का ये नोट एक ही झटके में बना देगा लाखो रुपयों का मालिक जानिये क्या है तरीका...

मानसून के बंगाल की ओर मुड़ते ही बिहार एवं झारखंड में मानसून की बारिश शुरू हो पाएगी। राजधानी के वातावरण में फैली नमी एवं तेज धूप के कारण लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ज्यादा नमी वाले क्षेत्रों में आंधी के साथ बारिश हो रही है। राज्य के पूर्वी एवं उत्तरी क्षेत्र में रविवार को भी आंधी के साथ बारिश हुई। येलो अलर्ट वाले जिलों में बारिश रुक-रुक कर होती रहेगी।

मुख्य रूप से कटिहार, भागलपुर, बांका, मुंगेर, खगडिय़ा, जमुई, किशनगंज, पूर्णिया, अररिया, मधेपुरा सहरसा, सुपौल में बारिश हुई। इन जिलों के लिए मौसम विज्ञान केंद्र ने येलो अलर्ट जारी कर दिया है।

यह भी पढ़ें  बिहार में इन 75 जगहों पर चालू हुआ इलेक्ट्रिक वाहन के लिए चार्जिंग स्टेशन, देखिये सभी जगह का नाम

राजधानी में रविवार को सुबह से ही मौसम काफी सख्त रहा। तेज धूप और उमस से लोग पसीने से तरबतर होते रहे। रविवार को पटना का अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। भागलपुर सर्वाधिक गर्म स्थान रहा। वहां अधिकतम तापमान 38.6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।