आपके मोबाइल में होगा राशन कार्ड, कोटेदार नहीं कर पाएगा मनमानी, दूसरे शहर में होगी आसानी

मेरा राशन ऐप उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय द्वारा लॉन्च किया गया यह ऐप सरकार के वन नेशन वन राशन कार्ड (ONORC) सिस्टम का एक हिस्सा है| मोदी सरकार ने ‘मेरा राशन ऐप’ लांच किया है। इस ऐप के जरिए आप न केवल दूसरे शहर में आसानी से राशन प्राप्त कर सकते हैं बल्कि राशन कार्ड पर कितना वितरण हुआ है और घर के आसपास कितने राशन डीलर मौजूद हैं, यह भी जान सकते हैं।

उपभोक्ता मंत्रालय द्वारा लॉन्च किया गया यह ऐप सरकार के वन नेशन वन राशन कार्ड (ONORC) सिस्टम का एक हिस्सा है। बता दें वन नेशन वन राशन कार्ड सिस्टम उन लोगों के लिए बेहद मददगार है, जो कामकाज के सिलसिले में अक्सर अपना राज्य बदलते रहते हैं। वन नेशन वन राशन कार्ड पूरी तरह डिजिटल है और इसे किताब की तरह ढोने की जरूरत नहीं है। डिजिटल होने के चलते इसे मोबाइल में लेकर चल सकते हैं। जहां कहीं भी रहें, इस डिजिटल कार्ड को दिखाकर अपना राशन उठा सकते हैं।

ऐप की खूबियां

  • मेरा राशन मोबाइल ऐप दो भाषाओं- हिंदी और अंग्रेजी में है।  इसका इस्तेमाल बेहद आसान है। 
  • इस ऐप के सहारे आप जान सकते हैं कि आपको कितना गेहूं और चावल दिया जा रहा है। उसकी कीमत क्या है और कितना मिला है और कितना मिलना बाकी है।
  • राशन कार्ड पर कितना वितरण हुआ है और घर के आसपास कितने राशन डीलर मौजूद हैं, ये सब जानकारी पा सकते हैं
  • खुद राशन कार्ड के डीलर को भी बदल सकते हैं. यह जानकारी भी मिलती है कि कौन सा डीलर आपके घर से कितना दूर है
  • डीलर का लाइसेंस नंबर और नाम, पता सबकुछ पाया जा सकता है
  • राशन कार्ड से आधार लिंक है या नहीं, इसे भी देख सकते हैं
  • पूरे देश में कहीं भी जाएंगे वहां पर आपके आसपास के डीलरों की जानकारी हासिल हो सकेगी।  यह पूरा सिस्टम गूगल मैप्स से जुड़ा हुआ है