बिहार टेक्निकल सर्विस कमीशन सहित कई विभागों में वैंकेसी, एक क्लिक में जानिए आवेदन की प्रक्रिया

बिहार टेक्निकल सर्विस कमीशन ने बंपर वैकेंसी निकाली है. मेडिकल की डिग्री हासिल कर चुके इच्छुक और योग्य उम्मीदवार इन पदों को लिए अप्लाई कर सकते हैं. बता दें कि जनरल मेडिकल ऑफिसर और स्पेशलिस्ट मेडिकल ऑफिसर पद के लिए 6338 पदों पर आवेदन मांगे गए हैं. आवेदन की अंतिम तारीख 24 मई है. इच्छुक अभ्यर्थी बिहार टेक्निकल सर्विस कमीशन की ऑफिशियल वेबसाइट अवेदन कर सकते हैं.

जनरल मेडिकल ऑफिसर के 2632 पदों पर नियुक्तियां होंगी. स्पेशलिस्ट मेडिकल ऑफिसर के 3706 पदों पर रिक्तियां भरी जाएंगी. स्पेशलिस्ट मेडिकल ऑफिसर में गायनोकोलॉजिस्ट के 641, माइक्रोबायोलॉजी के 18, फिजिशियन के 307,

पीडियाट्रिशियन के 635, ई.एन.टी के 111, ऑप्थल्मोलॉजिस्ट के 75, पैथोलॉजी के 86, रेडियोलॉजिस्ट के 188, साइकाइट्रिक के 16, एनेस्थीसिया के 935, डर्मेटोलॉजिस्ट के 84, जनरल सर्जरी के 568 और ऑर्थोपेडिक के 42 पद शामिल हैं.

जनरल मेडिकल ऑफिसर पदों पर आवेदन करने वाले कैंडिडेट्स के पास एमबीबीएस की डिग्री होनी चाहिए. वहीं, स्पेशलिस्ट मेडिकल ऑफिसर के पदों पर आवेदन करने वाले उम्मीदवारों के पास एमबीबीएस की डिग्री के अलावा संबंधित ट्रेड में पीजी डिप्लोमा या डिग्री होनी चाहिए.

इन पदों के लिए पुरुष उम्मीदवारों की अधिकतम आयु 37 वर्ष निर्धारित की गयी है, जबकि महिलाओं के लिए अधिकतम आयु सीमा 40 वर्ष है. आरक्षित वर्ग के लिए नियमों में छूट के मुताबिक मिलेगी. जनरल, ओबीसी व ईडब्ल्यूएस कैटेगरी के लिए आवेदन शुल्क 200 रुपये और एससी, एसटी व दिव्यांग के लिए आवेदन शुल्क 50 रुपये है.

1000 मेडिकल ऑफिसर पद पर नियुक्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी किया गया है. वहीं, बिहार स्टेट हेल्थ सोसायडी ने भी मेडिकल ऑफिसरों के पदों पर भर्तियों के लिए नोटिफिकेशन जारी किया है. इच्छुक अभ्यार्थी स्टेट हेल्थ सोसायटी की वेबसाइट statehealthsocietybihar.org के जरिए आवेदन कर सकते हैं. नोटिफिकेशन के मुताबिक कुल 1000 पदों पर मेडिकल ऑफिसरों की नियुक्ति की जाएगी.

मेडिकल ऑफिसर पद के लिए अभ्यर्थी के पास किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्याल से एमबीबीएस की डिग्री होनी चाहिए. वहीं, आवेदकों की आयु सीमा 55 साल से अधिक नहीं होनी चाहिए. ओबीसी वर्ग के अभ्यर्थियों को अधिकतम उम्र सीमा में तीन वर्ष और एससी व एसटी वर्ग के अभ्यर्थियों को पांच वर्ष की छूट दी गई है.