झारखंड में भीषण ट्रेन हादसा, पटरी से उतरने के बाद बोगियों से अलग होकर नदी में गिरा इंजन

झारखंड में सिमडेगा-रांची मार्ग पर कनरवा स्टेशन के पास बुधवार की रात बड़ा ट्रेन हादसा टल गया। हटिया राउरकेला पैसेंजर ट्रेन दुर्घटना का शिकार हो गई। पटरियों से उतरने के बाद अनियंत्रित हुआ इंजन बोगियों से अलग होकर नदी में गिर गया। संयोग से बोगियां इंजन से अलग होने के बाद भी पलटी नहीं और न ही एक दूसरे पर चढ़ीं। घटना के समय ट्रेन में करीब 200 यात्री सवार थे।

बुधवार की रात करीब नौ बजे पैसेंजर ट्रेन हटिया से राउरकेला जा रही थी। इसी दौरान साउथ केबिन देवनदी के समीप ट्रेन पटरी से उतर गई और इंजन बोगियों से अलग हो गया।

बोगियों से अलग होने के बाद अनियंत्रित इंजन नदी में जा गिरा। बोगियों के अपनी जगह पर रुक जाने से उसमें सवार सभी यात्री बाल-बाल बच गए।

घटना की जानकारी मिलते ही रेलवे पुलिस और अधिकारी मौके पर पहुंचे और राहत बचाव कार्य शुरू किया। रेलवे अधिकारियों के अनुसार पैसेंजर ट्रेन बानो स्टेशन से अपने निर्धारित समय से देर में शाम 7:25 में खुली थी। कनरोवा स्टेशन से रात 8:20 बजे खुलने के बाद साउथ केबिन देवनदी के समीप पहुंची थी। 

सभी यात्रियों को राउरकेला स्टेशन तक पहुंचाने के लिए व्यवस्था की जा रही है। यात्रियों ने बताया कि अगर इंजन बोगी से अलग नहीं होता तो बड़ी दुर्घटना घट जाती। डीआरएम नीरज अम्बस्ट ने बताया कि लोको पायलट और गार्ड ठीक है कोई हताहत नहीं हुआ है।