लॉकडाउन में ई-रिक्शा जब्त करने पर बवाल, ट्रैफिक थाने के जमादार की पिटाई

लॉकडाउन के बावजूद शहर में कई ऑटो और ई-रिक्शा का चोरी-छिपे परिचालन हो रहा है। सोमवार को सिकंदरपुर मोड़ के पास पुलिस के वरीय अधिकारी ने एक ई-रिक्शा को जब्त को किया। उसे थाने पर जवान की निगरानी में भेज दिया। इस पर बवाल हो गया।

इसकी जानकारी पाकर ई-रिक्शा चालक के मोहल्ले के कई युवक डंडे लेकर सिकंदरपुर पहुंचे। बिना कुछ पूछे मौके पर मौजूद ट्रैफिक थाने के जमादार गिरिश सिंह से भिड़ गए। इस दौरान अन्य पुलिसकर्मी मूकदर्शक बने रहे। गिरिश सिंह ने पुलिसिया रौब दिखाया तो युवकों ने हमला कर दिया। उनकी पिटाई करने लगे।

इसपर अन्य पुलिस कर्मी युवकों पर लपके, लेकिन जमादार से बैग छीनकर युवक अखाड़ाघाट पुल की ओर भागने लगे। जमादार ने उनको खदेड़ा। एक बाइक सवार की मदद ली। तब युवक बैग को सड़क पर फेंककर गली में घुस गए। जमादार गिरिश सिंह ने बताया कि बैग में चालान की रसीद थी।

हमलावरों ने रुपये समझकर बैग छीन लिया था। जमादार ने घटना की जानकारी ट्रैफिक थाने को दी। इसके बाद पुलिस ने ई-रिक्शा चालक अखाड़ाघाट निवासी को हिरासत में ले लिया। इस बारे में नगर डीएसपी रामनरेश पासवान ने बताया कि आरोपितों को चिह्नित किया जा रहा है। जल्द ही सबकी गिरफ्तारी होगी। महामारी एक्ट में एफआईआर दर्ज की जाएगी।

घटना से कुछ देर के लिए सिकंदरपुर मोड़ पर अफरातफरी मच गई। पूरा वाक्या सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया है। फिलहाल पुलिस कानूनी कार्रवाई करने में जुटी है। जमादार के बयान पर आगे की कार्रवाई होगी। नगर डीएसपी रामनरेश पासवान ने इस घटना को लेकर जमादार और आरोपित चालक से अपने कार्यालय में पूछताछ की है।

Input: Live Hindustan