तेजस्वी ने नीतीश कुमार को दी चुनौती, कहा- नहीं संभल रहा बिहार तो इस्तीफा दें, हम बताएंगे कैसे चलती है सरकार

कोरोना संक्रमण को लेकर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सोमवार को केंद्र और राज्य सरकार पर जमकर हमला बोला। तेजस्वी ने कहा कि हम जिम्मेदार विपक्ष होने की पूरी भूमिका निभा रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिखकर यह मांग करेंगे कि हमें पूरे बिहार में दौरा करने और लोगों को मदद पहुंचाने की अनुमति प्रदान की जाए।

तेजस्वी ने यह बातें फेसबुक लाइव के जरिए लोगों को संबोधित करते हुए कही। तेजस्वी यादव ने कहा कि मुझसे सवाल पूछे जाते हैं कि मैं घर से बाहर नहीं निकल रहा, इसके लिए भी सरकार जिम्मेदार है। तेजस्वी ने आरोप लगाया कि मेरे घर से बाहर निकलते ही सरकार मुझ पर केस कर देती है।

तेजस्वी यादव ने आगे कहा कि सरकार यदि हमें अनुमति देती है तो हम बाहर निकल कर लोगों की सहायता करने के लिए भी तैयार हैं। उन्होंने कहा कि जब मैंने बेरोजगारी पर सरकार के खिलाफ आवाज उठाई तो हम पर केस दर्ज कर दिया गया। नेता प्रतिपक्ष ने केंद्र और राज्य सरकार को जमकर घेरने की कोशिश की। उन्होंने कहा

कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कहते हैं कि वह बिहार के बेटे है, लेकिन वह बताएं कि बिहार के लिए उन्होंने अब तक क्या किया है। केद्र सरकार से बिहार को क्या सहयोग मिल रहा है, यह बताया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह किसी से छिपा नहीं है कि बिहार की हालत क्या है। हर जगह लाशों के ढेर लगे हुए हैं, जो बिहार की सच्चाई की बयां करती है।

तेजस्वी यादव ने बताया कि आज से ठीक एक माह पहले पिछले 17 अप्रैल को राज्यपाल की बैठक में सरकार को राजद ने 30 से अधिक सुझाव दिए थे। हमारी पूरी कोशिश थी.

कि इस महामारी में सरकार की मदद करें, लेकिन सरकार ने इन सुझावों को नहीं माना। उन्होंने कहा कि हम पर यह आरोप लगे कि हम सरकार को काम नहीं करने दे रहे हैं। हमने एक माह का समय सरकार को दिया, लेकिन आज भी स्थिति जस की तस है।