बिहार के लाल गौरव कुमार ने बढ़ाया बिहार का मान UPSC में मिली शानदार सफलता सब दे रहे बधाईयाँ

कुछ दिन पहले यूपीएससी का रिजल्ट प्रकाशित किया गया था जिसमे पुरे देश में दुसरे नंबर पर बिहार के मधेपुरा की बेटी अंकिता अग्रवाल ने अपना जगह बनाई वहीँ पहले नंबर पर देश के सबसे बड़े राज्य उत्तरप्रदेश के श्रुति शर्मा को आया | बता दे कि यह परीक्षा सबसे कड़ा और कठिन माना जाता है |

दरअसल हम बात कर रहे है बिहार के भागलपुर जिले के चंपानगर के पारसनाथ मंदिर लेन निवासी गौरव कुमार को यूपीएससी परीक्षा में 406 वां रैंक प्राप्त करने पर उनके घर बधाई देने वाले लोगों का तांता लगा है।आपको बता दें कि डॉ बलराम प्रसाद सेवानिवृत्त मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी जमालपुर, मुंगेर एवं माँ गृहिणी लाजबन्ति देवी के पुत्र ने संघ लोक सेवा आयोग की बहुत ही प्रतिष्ठित परीक्षा में अपार सफलता प्राप्त कर अपने पिता का आईएएस अधिकारी बनने का सपना पूरा किया है।

यह भी पढ़ें  बिहार में 2680 करोड़ की लागत से बदलेगा इन 9 जिला के गाँवों की रोड होंगे चकाचक पढ़े पूरी खबर

डॉ बलराम प्रसाद ने बताया कि बड़ा पुत्र डॉक्टर है जो मुजफ्फरपुर मेडिकल कॉलेज में पद स्थापित हैं,वही दूसरा पुत्र सौरव कुमार दिल्ली में सॉफ्टवेयर इंजीनियर है,गौरव कुमार सबसे छोटा पुत्र है जो आईएएस अधिकारी बनकर देश की सेवा करने का सपना पूरा किया है। गौरव कुमार के चाचा नेकलाल ताँती ने कहा कि इस सफलता पर मुझे गर्व हो रहा है, मैं उम्मीद करता हूँ कि भागलपुर पान समाज के और भी युवक गौरव से प्रेरणा लेकर अपने अपने सपना पूरा करेंगे।

महासंघ के महासचिव संजीव कुमार ताँती, निशांत कुमार,राजू महाराणा,नवीन कुमार भी कार्यक्रम में शामिल हुए । सौरव कुमार ने इस सफलता का श्रेय अपने माता पिता-भाई गुरुजन एवं अपने दोस्तों को भी दिया, उन्होंने कहा कि पान समाज के लोग काफी संख्याओं में बधाई देने के लिए आये हैं उन्हें हार्दिक धन्यवाद देता हूँ और पान समाज के जो भी युवा मोटिवेशन के लिए आयेंगे मैं उन्हें मोटिवेट करता रहूँगा।

यह भी पढ़ें  बिहार के इस महादलित बस्ती की पहली बेटी हुई मैट्रिक पास इससे पहले किसी ने नहीं दी थी परीक्षा