राहत भरी खबर : सरसों व रिफाइंड आयल में आई भारी गिरावट, थोक रेट में इतना सस्‍ता हुआ तेल

दोस्तों सरसों तेल एक ऐसी समान है जिसकी जरूरत भारत के लगभग सभी घरों में होती है | इसके दाम बढ़ने से लोगों के जेब पर भारी असर पंहुचता है | वही अभी इसको लेकर राहत भरी खबर आ रही है | आयात खत्म होते ही सरसों और रिफाइंड आयल की कीमतों में दस रुपये लीटर से अधिक की कमी आई है। सरसों का तेल फुटकर बाजार में 162 से 165 रुपये लीटर हो गया है। पहले बैल कोल्हू सरसों के तेल की कीमत 175 रुपये लीटर थी। वहीं फारच्यून ब्रांड रिफाइंड आयल 165 से 170 रुपये में बिक रहा है। अब तक रिफाइंड बाजार में 180 रुपये लीटर उपलब्ध था।

यह भी पढ़ें  आम लोगों पर महंगाई का मार ! पेट्रोल-डीजल के बाद महंगा हुआ दाल और तेल जानिये ताजा भाव?

आयात खत्म होते ही खाद्य तेलों में गिरावट दर्ज होना शुरू हो गई है। करीब दस रुपये प्रति लीटर से अधिक का अंतर आया है। डिमांड भी लगातार घट रही है। इससे कीमतों में लगातार अंतर बना हुआ है। – अजय अग्रवाल, खाद्य तेल कारोबारी मलेशिया और इंडोनेशिया से सोयाबीन पर राहत मिलने से फारच्यून में बड़ी गिरावट आई है। वहीं सरसों की नई फसल निकलने के साथ ही डिमांड में कमी है। इसके चलते सरसों के तेल में दस रुपये लीटर की कमी आई है। 

तेल और रिफाइंड सस्ता होने के बाद भी कंपनियां पुराने रेट पर ही माल थमा रही हैं। लोगों के विरोध के बाद कंपनियों के प्रतिनिधियों ने कहा है कि नई लाट में राहत मिल जाएगी और कीमतें कम हो जाएंगी। मनमानी जारी है। हर आइटम पर एमआरपी बहुत बढ़ाकर भेजी जा रही है जिससे ग्राहकों को कोई भी ठग सकता है। खाद्य तेलों में दस रुपये लीटर से ज्यादा की गिरावट बाजार में आ गई है।

यह भी पढ़ें  B.Ed कॉलेजों में नामांकन के लिए आज से आवेदन 23 जून को होगी प्रवेश परीक्षा जानिए, कहाँ कितनी सीटें

थोक मंडी में आज का ताजा भाव :

  • सरसों का तेल -पहले -अब
  • बैल कोल्हू- 2,580-2,420 (दस लीटर)
  • फारच्यून- 2,680-2,400 (15 लीटर)
  • फुटकर मंडी
  • सरसों का तेल -पहले -अब
  • बैल कोल्हू- 175-162 से 165
  • फारच्यून- 175 से 180-165 से 170