बिहार में बिछाया जा रहा सड़कों का जाल, पटना से दिल्ली का सफ़र होगा सुहाना जानिये क्या है प्लान

बिहार के लोगों के लिए अच्छी खबर है जी हाँ दोस्तों बिहार में सड़कों की तरह जाल बिछने वाली है | बता दे कि इन सड़कों की श्रृंखला ऐसी होगी की बिहार से दिल्ली का सफर चंद घंटों का रह जाएगा. अभी बिहार से सड़क मार्ग से दिल्ली तक आने में 24 घंटे से ज्यादा का वक्त लगता है. ऐसे में इन सड़कों का जाल बिछ जाने के बाद पटना से दिल्ली तक का सफर 12 घंटे के करीब का रह जाएगा |

तीन लाख करोड़ से होना है सड़कों का निर्माण :

बता दें कि बिहार में तीन लाख करोड़ रुपए की लागत से इन सड़कों का निर्माण कराया जा रहा है. इन सड़कों के निर्माण के काम में एक लाख करोड़ रुपए से ग्रीन एक्सप्रेस-वे का विकास किया जा रहा है जबकि 50 हजार करोड़ रुपए की लागत से रिंग रोड का निर्माण होगा जो लगभग 1800 किमी का होगा | इससे बिहार के विकाश को नया उडान मिलेगी |

यह भी पढ़ें  खुशखबरी : नीतीश कुमार देंगे बिहार के युवाओं को रोजगार पुलिस विभाग में एक लाख भर्तीया जाने डिटेल्स

इन सड़कों के जाल को बिछाने में लगभग दो साल से ज्यादा का वक्त लगेगा. इसके तहत छपरा से हाजीपुर 70 किमी लंबी सड़क का काम जारी है. जो दिसबंर तक पूरा होने की संभावना है. वहीं दानापुर स्टेशन से बिहटा तक एलिवेटेड सड़क बनाए जाने का भी प्रस्ताव है जो कोइलवर पुल से जुड़ जायेगी.

यही सड़क आगे बढ़ते हुए बक्सर तक जायेगी और यहां से सिक्स लेन लिंक रोड बनाकर इसे पूर्वांचल एक्सप्रेसवे से जोड़ दिया जायेगा. इसे प्रोजेक्ट के जुलाई तक पूरा हो जाने का अनुमान है. इस सड़क के साथ ही लिंक रोड भी तैयार होगी जिसके बाद सड़क मार्ग से पटना से दिल्ली की दूरी को 12 घंटे में पूरा किया जा सकेगा | इसके अलावा पटना से सासाराम तक ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे. आरा मोहनिया निर्माणाधीन फोरलेन सड़क. पटना सासाराम के सिक्स लेन सड़क का भी निर्माण होगा.

यह भी पढ़ें  जेपी गंगा पथ से जुड़ गया अटल पथ दो दिनों बाद दौड़ने लगेंगी गाड़ियां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार करेंगे लोकार्पण

इसके अलावा मोकामा से मुंगेर तक साढ़े चार हजार करोड़ की लागत से ग्रीनफील्ड सड़क बनाए जाने की योजना है. इसके लिए जमीन अधिग्रहण का काम चल रहा है जो इसी साल पूरा हो जाने का अनुमान है. इसके साथ ही 17 नए पुल बिहार में नदियों पर बनाये जायेंगे. इन सभी कार्यों का 2024 तक लगभग पूरा हो जाने का अनुमान है.