करार किये हुए हो गए दो साल से अधिक लेकिन अभी तक नहीं शुरू हुआ बिहार में इन 10 आरओबी का निर्माणकार्य

बिहार में रेलवे गुमटी पर बहुत जाम लगी रहती थी इसको देखते हुए पुरे बिहार में अलग-अलग 10 जगहों पर आरओबी का बनना आज से दो साल पहले सुनिश्चित हुआ | लेकिन करार होने के बाद भी आज तक इसके निर्माण कार्य नहीं शुरू हो पाया है |

वहीँ पथ निर्माण विभाग ने इन सभी एसएच पर स्थित लेवल क्रॉसिंग के बदले 10 आरओबी को बनाने की जिम्मेदारी बिहार स्टेट रोड डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड (बीएसआरडीसीएल) को दी थी.

इन स्टेशनों के बीच बनना है 10 आरओबी

  1. दरभंगा-लहेरियासराय स्टेशन के बीच दरभंगा-बिरौल-कुशेश्वरस्थान सड़क पर दोनार चौक
  2. डुमरांव-बरूना स्टेशनों के बीच डुमरांव-विक्रमगंज सड़क
  3. वारसलीगंज-नवादा स्टेशनों के बीच हिसुआ-नवादा-पकरी बरांवा सड़क
  4. मुक्तापुर-किशनपुर स्टेशनों के बीच दरभंगा-समस्तीपुर सड़क
  5. मोहम्मदपुर-कमतौल स्टेशनाें के बीच दरभंगा-कमतौल-बसैठा-मधवापुर सड़क
  6. मशरख-श्याम कौड़िया स्टेशन के बीच एसबीएमटीएम सोन्हाे-परसा-शीतलपुर सड़क
  7. सीवान यार्ड स्टेशन के पास सिवान-सिसवन सड़क (एसएच-89)
  8. सुधानी-बारसोई स्टेशन के बीच कटिहार-सोनैली-झौआ-बलरामपुर सड़क (एसएच-98)
  9. बारसोई-मुकुरिया स्टेशन के बीच कटिहार-बलरामपुर सड़क (एसएच-98)
  10. कटिहार-दलन स्टेशन के बीच कटिहार-छींटाबाड़ी-सोनैली-झौआ-बलरामपुर सड़क (एसएच-98)
यह भी पढ़ें  सहारा इंडिया में आपका भी फंसा है पैसा जानिये कब मिलेगा पैसा, जानिये अपडेट

बता दे कि बिहार के इन सभी आरओबी की बनाने की अनुमानित लागत 635 करोड़ रुपये है. इसमें से आधा खर्च रेलवे और आधा खर्च राज्य सरकार को वहन करना है. इन 10 आरओबी में से सात की डीपीआर बन चुकी है और डीपीआर पथ निर्माण विभाग से स्वीकृति की प्रक्रिया में है. वहीं, तीन आरओबी बनाने की मंजूरी मिल चुकी है, लेकिन लागत की हिस्सेदारी के बारे में रेलवे को राज्य सरकार की तरफ से पत्र भेजा गया है. वहां से मंजूरी नहीं मिली है.