बड़ी खबर : 31 मई को पुरे देश में स्टेशनमास्टर नहीं दिखायेंगे हरी झंडी फिर भी होगा ट्रेन का परिचालन

बड़ी खबर : देश भर में इस महीने के आखिरी तारीख यानी को 31 मई को ट्रेन का परिचालन बिना स्टेशन मास्टर के होगा | बता दे कि अखिल भारतीय स्टेशन मास्टर एसोसिएशन के आह्वान पर मंडल भर के स्टेशन मास्टर 31 मई को सामूहिक अवकाश पर रहेंगे। स्टेशन मास्टरों ने इसके लिए अभी से आवेदन करना शुरू कर दिया।

वहीँ इस एसोसिएशन के मीडिया प्रभारी संजय गोस्वामी ने बताया कि देश भर से स्टेशन मास्टर पांच सूत्री मांगों को लेकर लंबे समय से आंदोलन चला रखा है। कंट्रोलर को पांच हजार रुपये प्रत्येक माह दिए जाते हैं। इसी तरह से गार्ड को 30 फीसद रनिंग भत्ता मिलता है। स्टेशन मास्टर भी ट्रेन संचालन का काम करते हैं, लेकिन उन्हें किसी प्रकार का भत्ता नहीं दिया जाता है।

स्टेशन मास्टर पदोन्नत होकर स्टेशन अधीक्षक तक बन सकते है, उसके आगे पदोन्नति का रास्ता बंद हो जाता है। स्टेशन मास्टर के लंबे समय से रिक्त पद हैं, इससे स्टेशन मास्टर को 12 से 16 घंटे तक ड्यूटी करना पड़ती है। स्टेशन मास्टर की कमी के कारण स्टेशन मास्टर को छुट्टी तक नहीं मिल पाती हैं। नई पेंशन योजना को बंद पुरानी पेंशन योजना लागू करने की भी मांग की जा रही है।

लोगों को बाइक चलाते समय हेलमेट लगाने, ट्रिपलिंग न करनें, कार चलाते समय सीट बेल्ट बांधने, मोबाइल का प्रयोग न करने और शराब पीकर वाहन न चलाने के लिए प्रेरित किया गया। सड़क पर लगे यातायात संकेतों के बारे में भी जागरुक किया गया। नुक्कड़ नाटक और गीतों की प्रस्तुति प्रधानाचार्या मधुबाला त्यागी और अभिनव समाजसेवी संगठन के सचिव कपिल रस्तोगी के मार्गदर्शन में हुआ। सीओ ट्रैफिक आलोक अग्रहरि, टीआइ पवन त्यागी, दिनेश कुमार आदि मौजूद रहे।