बिहार को मिलेगा हाईस्पीड रोड का सौगात, लगभग 3 हजार करोड़ की लागत से होगा निर्माण

एक शानदार एक्सप्रेस -वे का निर्माण लगभग 3 हजार करोड़ के लागत से की जा रही है जिसका फायदा बिहार के लोगों को भी मिलेगा जी हाँ दोस्तों आपको बता दे की बिहार के लिए बहुत ही ख़ुशी की बात है कि वाराणसी कोलकाता ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे बिहार के कई शहरों से होकर गुजरेगा। इस की एक्सप्रेसवे की लंबाई करीब 600 किलोमीटर होगी।यह एक्सप्रेस-वे केंद्र सरकार के अंतर्गत बनाया जाएगा |

वाराणसी के पश्चिम बंगाल का सफ़र आसान :

भारत के तत्कालीन परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने भारतमाला फेज-1 के तहत 3 अतिरिक्‍त एक्‍सप्रेस वे बनाने की एलान किये थे | घोषणा के अनुसार, वाराणसी-रांची-कोलकाता एक्‍सप्रेस वे बनाया जाएगा। इस हाईस्‍पीड रोड से वाराणसी से पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता जाना बेहद आसान हो जाएगा। इस हाईस्‍पीड रोड के बनने से न केवल आमलोगों को सुविधा होगी, बल्कि व्‍यवसायियों को भी काफी राहत मिलेगी। चंद घंटो में पूरा हो जाएगा यात्रा

बिहार से होते हुए गुजरेगी यह एक्सप्रेस-वे :

यह एक्सप्रेस-वे वाराणसी-रांची-कोलकाता एक्‍सप्रेस वे बिहार से होकर भी गुजरेगा। हाईस्‍पीड रोड सासाराम और गया को भी कनेक्‍ट करेगा सासाराम और गया के अलावा बिहार के अन्‍य शहर भी वाराणसी, कोलकाता और रांची से सीधे जुड़ जाएंगे। इससे व्‍यावसायिक गतिविधियों को भी बढ़ावा मिलने की उम्‍मीद है। साथ ही इस एक्‍सप्रेस वे के इंडस्ट्रियल कॉरिडोर में बदलने की भी संभावना है।

बिहार के इन जिलों को जोड़ेगा यह एक्सप्रेस-वे :

गोरखपुर के जगदीशपुर से शुरू होकर सिलीगुड़ी तक जोड़ा जाएगा,यह  416 किलोमीटर की लम्बाई से बनने जा रहा है एक्सप्रेस-वे, जो कि बिहार के नौ जिलों से होकर गुजरेगा. इसमें गोपालगंज, पूर्वी और पश्चिम चंपारण, सीतामढ़ी, मधुबनी, शिवहर, सुपौल, अररिया और किशनगंज शामिल है.