बीपीएससी के प्रश्न पत्र लीक होने के बाद आया जांच कमिटी का फैसला, 1087 केंद्रों पर आयोजित थी परीक्षा

बिहार में अलग-अलग परीक्षा केन्द्रों पर रविवार को बीपीएससी की 67वीं संयुक्त प्रारंभिक प्रतियोगिता परीक्षा के प्रश्न पत्र परीक्षा आरंभ होने से करीब 15 मिनट पहले ही वायरल हो गये थे। आयोग ने तीन सदस्यीय जांच टीम की रिपोर्ट पर पेपर रद्द कर दिया है। बता दें कि बिहार लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष आरके महाजन ने जांच के लिए आयोग की तीन सदस्यीय टीम गठित की थी। कमेटी ने परीक्षा को रद्द कर दिया है।

वहीँ आपको बता दे कि वायरल प्रश्न की पुष्टि परीक्षा समाप्त होते ही परीक्षार्थियों ने कर दी। इसका जानकारी सीएमओ को ई-मेल से दे दी थी। मामले को लेकर आयोग ने जांच कमेटी गठित की गयी थी। कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर परीक्षा को रद्द कर दिया गया है। आयोग के संयुक्त सचिव सह परीक्षा नियंत्रक अमरेंद्र कुमार ने बताया कि विभिन्न टीवी चैनलों पर प्रश्न पत्र लीक होने की सूचना प्रसारित की गयी थी। मामलो को गंभीर रूप से लिया गया और जांच के लिए कमिटी का गठन किया गया |

जानकारी के मुताबिक बता दे कि जांच दल को 24 घंटे के भीतर अपनी रिपोर्ट देने को कहा गया था। इसके बाद परीक्षा को लेकर निर्णय लिया जाएगा। इससे पूर्व परीक्षा खत्म होने से पहले ही आरा में छात्रों ने पेपर लीक होने की बात कहते हुए हंगामा किया था। परीक्षा के बाद वायरल प्रश्न पत्र को सही बताते हुए अभ्यर्थियों ने इसे रद्द करने की अपील करते हुए सीबीआई जांच की मांग की। बीपीएससी की 67वीं संयुक्त प्रारंभिक प्रतियोगिता परीक्षा रविवार को राज्य के सभी जिलों के 1083 परीक्षा केंद्रों पर आयोजित हुई।