बीपीएससी पेपर लीक मामले में मुख्यमंत्री ने दिखाई सख्ती, कहा- कार्रवाई के दिए गए निर्देश

बिहार के सबसे बड़े लेवल के परीक्षा bpsc बिहार लोक सेवा आयोग का था | जो परीक्षा लिया भी गया लेकिन परीक्षा के कुछ ही घंटो बाद पता चला की परीक्षा को रद्द कर दिया गया है | इसको लेकर सभी विद्यार्थी बहुत परेशान है कुछ विद्यार्थी का यह आरोप है कि पहली बात परीक्षा टाइम पर नहीं लेती है और अगर लेट में भी होती है तो प्रशन-पत्र वायरल हो जाता है | ऐसे में विद्यार्थी के भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है |

मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने तोड़ी चुप्पी :

प्रश्न पत्र वायरल होने के बाद बीपीएससी ने परीक्षा को रद्द कर दिया है. उसके बाद लगातार बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार को सोशल मीडिया पर ट्रोल किया जा रहा है | अब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस पर अपनी चुप्पी तोड़ी है. सोमवार को जनता दरबार कार्यक्रम के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए सीएम नीतीश ने कहा कि जैसे ही प्रश्न पत्र आउट होने की जानकारी मिली उसके बाद एक्शन लिया गया और परीक्षा को तत्काल कैंसिल कर दिया गया.

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रश्न पत्र कहां से लीक हुआ, कैसे लीक हुआ इन तमाम चीजों को देखा जा रहा है. परीक्षा शुरू होने से पहले यह कैसे लीक हुई, इसकी पूरी जांच की जा रही है. जानकारी मिलने के बाद रविवार की शाम में ही मैंने सभी लोगों से बातचीत की थी. इसके बाद मैंने यह निर्देश दिया है कि जितनी जल्दी हो सके जांच कर कार्रवाई करें. भविष्य में ऐसा दोबारा न हो इस पर भी काम होना चाहिए.

बिहार में बढ़ते साइबर क्राइम पर नीतीश कुमार ने कहा कि गड़बड़ी करने वालों पर कार्रवाई की जा रही है. प्रशासनिक स्तर पर काफी सक्रियता बढ़ाई जा रही है. सबके लिए गाइडलाइन बनाया गया है. बिहार में किसी भी क्राइम पर तेजी से एक्शन लिया जाता है.