बिहार के इन सात जिलों में हो रही है सेव की खेती सरकार दे रही 50% का अनुदान ऐसे करें ऑनलाइन अप्लाई…

अभी तक हम सब जानते थे की सिर्फ ठन्डे प्रदेश जैसे जाम्मु एंड कश्मीर जैसे शहरों में ही सेव की खेती संभव है लेकिन अब बिहार में भी हो रही है सेव की खेती जी हाँ दोस्तों बिहार में सेब की खेती करने वाले किसानों के लिए अच्छी खबर है |बिहार में पहली बार ऐसा होने हजा रहा है की सेब की खेती के लिए किसानों को अनुदान दिया जायेगा |

बिहार के भागलपुर, बेगूसराय, औरंगाबाद, वैशाली, कटिहार, मुजफ्फरपुर और समस्तीपुर जिले का भी इस योजना के लिए चयनित किया गया है | सातों जिले में 10 हेक्टयर में सेब की खेती होगी. खेती करने वाले किसानों को उदयान विभाग की ओर से 50 प्रतिशत अनुदान मिलेगा | विशेष उदयानिक फसल योजना (निजी व सार्जनिक कषेत) वर्ष 2021-22 के तहत सेब की खेती के लिए सभी जिले में भौतिक व वित्तीय लक्ष्य निर्धारित कर दिया गया है |

बता दे की बिहार के भागलपुर, बेगूसराय, वैशाली को दो-दो हेक्टयर का लक्ष्य दिया गया है, जबकि मुजफ्फरपुर, औरंगाबाद, कटिहार, समस्तीपुर को एक-एक हेक्टयर में खेती का लक्ष्य दिया गया है | सेंटर ऑफ एक्सिलेंस देसरी से सेब का पौधा उपलब्ध कराया जायेगा. किसान अक्टूबर से फरवरी तक पौधा लगा सकते है |

जानकारी के अनुसार बिहार में सेब की खेती करने वाले किसानों को 60:20:20 के अनुपात में तीन किश्तों में अनुदान की राशि दी जायेगी. द्वतीय किश्त का अनुदान प्रथम वर्ष में लगाये गये 75 प्रतिशत पौधे जीवित रहने पर वर्ष 2022-23 में दिया जायेगा | तृतीय द्वितीय वर्ष में 90 प्रतिशत पौधे जीवित रहने पर वित्तीय वर्ष 2023-24 में दिया जायेगा. प्रति हेक्टयर 625 सेब के पौधे लगाये जायेंगे. जिसे चार-चार मीटर की दूरी पर लगाना है |

सहायक निदेशक उद्यान डा. श्रीकांत ने बताया कि अनुदान पर सेब की खेती करने वाले किसानों को उद्यान विभाग के पोर्टल http://horticulture.bihar.gov.in/HORTMIS/NHM/OnlineAppNHM.aspx पर आवेदन करना होगा. आवेदन में जमीन का पेपर, आधार कार्ड, बैक पासबुक,