अच्छी खबर : अब नहीं फैलेगा पटना में प्रदुषण नहीं चलेगा डीजल से चलने वाला एक भी बस या ऑटो

दोस्तों प्रदुषण बहुत खराब है इससे लोगों को बहुत सारी बिमारी उत्पन्न होती है | अगर देश में सबसे अधिक प्रदुषण कहीं है तो वह है | दिल्ली जीई हाँ दिल्ली में सबसे अधिक प्रदुषण है | प्रदुषण का मतलब लोग दिल्ली समझते है लेकिन अब ऐसा नहीं रहा दिल्ली के बाद दूसरा नाम राजधानी पटना का आ रहा है | माना जा रहा है कि पटना में दिन पर दिन प्रदुषण अधिक होते जा रहे है | इसके लिए बिहार सरकार अपनी और से हर कोशिश कर रही है कि प्रदुषण कैसे खत्म हो |

बता दे कि इसके लिए बिहार सरकार ने एक बड़ी कदम उठाया है | बहुत बड़ा निर्णय लिया है | निर्णय यह है कि 1 अप्रैल से पटना के सड़कों पर सभी डीजल से चलने वाले बस और ऑटो को पूर्ण रूप से बंद कर दिया गया है | यह काम इसीलिए किया गया अहि कि पटना सड़कों पर जल्द से जल्द प्रदुषण को काल्त्रोल किया जा सके | बता दे कि इस काम को सरकार ने अचानक नहीं किया है | बल्कि पहले से इस बात की जानकारी बस एवं ऑटो मालिक को दे दिया गया था | और उपयुक्त समय भी |

की 1 अप्रैल से पटना की सड़कों पर दिज से चलने वाले बस और ऑटो पर रोक लगाई जायेगी | और सभी बस और ऑटो मालिक को ये बात भी बताया गया था कि आप लोग अपनी अपनी दिज से चलने वाली बस या ऑटो को cng या इलेक्ट्रिक में कन्वर्ट करा ले | जिससे प्रदुषण नहीं फैलेगा |

जल्द मिलेगा पटना को 50 से अधिक cng बस :

दोस्तों सरकार पर्यावरण को सुरक्षित रखने के लिए अपनी तरफ से हर वो काम कर रही है | जिससे हमारा समाज स्वच्छ हो इसके लिए डीजल वाली बसों को cng में कन्वर्ट की प्रक्रिया बहुत तेजी से चल रही है | और उम्मीद है कि बहुत जल्द आपको पटना की सड़कों पर 50 से अधिक cng बाद देखने को मिलेगी | सरकार भी देती है अपनी तरफ से योगदान cng बस खरीदने पर बता दे कि एक cng बस खरीदने के लिए आपको लगभग 30 लाख रुपया की जरूरत पड़ेगी | इसके लिए सरकार अपने तरफ से लगभग सात से आठ लाख रुपया का अनुदान देती है |