दिल्ली में पिता करते हैं मजदूरी, बेटा बना बिहार टॉपर… गांव में खुशी की लहर सब दे रहे बधाई !

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (bihar school examination board) ने मैट्रिक का रिजल्ट दिनांक 31.3.2022 को दोपहर 3 बजे प्रकाशित कर दिया है | बता दे कि इस बार रिजल्ट पर बेटियो का दबदबा दिखा है | 77.88 प्रतिशत बछ्को को सफलता मिली है | वहीँ पहले स्थान पर बिहार के औरंगाबाद की बेटी रामायणी ने 487 अंक प्राप्त की है | और दूसरा स्थान आया हा नवादा के सानिया को आया है एवं तसरे नंबर पर मधुबनी के विवेक है | जी हाँ दोस्तों विवेक ने 486 अंक प्राप्त किया है | बता दे कि विवेक के पिता दिल्ली में मजदूरी करते है | बता दे कि विवेक मधुबनी के लदनिया प्रखंड स्थित न्यू अपग्रेड हाई स्कूल सिधप परसाही के छात्र था |

यह भी पढ़ें  ग्रेजुएशन कम्प्लीट करने के बाद पटना विमेंस कॉलेज के बाहर ठेला लगाकर चाय बेचती है प्रियंका

आईएस बनना चाहता है विवेक :

बिहार बोर्ड में दशवीं के परीक्षाफल में तीसरा स्थान प्राप्त करने वाला विवेक आगे चलकर आईएस बनना चाहता है| उसने बताया की उसके परिवार में एक उसकी बहन को छोड़कर कोई पढ़ा-लिखा नहीं है | उनके पिता भी दिल्ली में मजदूरी के काम करते है | और घर के परिवार का भरन-पोषण होता है | इतनी आर्थिक स्थिति कमजोर होने के बाबजूद इतना अच्छी सफलता के बताता है की पढाई से हर चीज संभव है |

मालूम हो कि इस बार कुल 16 लाख से अधिक बच्चे ने मैट्रिक की परीक्षा में भाग ली थी और 77.88 प्रतिशत बच्चो को सफलता मिल पाया है | बिहार बोर्ड ने बीते दिन 17 से 24 फरवरी के बीच मैट्रिक की परीक्षा ली गई थी | और 36 फरवरी से कॉपी की जांच की प्रक्रिया शुरू हो गई थी | बिहार बोर्ड पिछले साल की तुलना में इस बार पहले रिजल्ट देकर एक नया मुकाम हाशिल कर लिया है | हमारी टीम के तरफ से बिहार बोर्ड के सभी सफल छात्र-छात्राओ को ढेर सारी शुभकामनाये !

यह भी पढ़ें  अच्छी खबर : बिहार के लोगों को मिलेगा जाम से मुक्ति इन 9 जिलों के सड़के होंगी चौड़ा