अच्छी खबर : बिहार में बहुत जल्द बनकर तैयार होंगे चार नए एक्सप्रेस-वे दिल्ली-मुंबई जाना होगा आसान

बिहारवासी के लिए बड़ी खुशखबरी है जी हाँ दोस्तों आपको बता दे कि बिहार में बहुत जल्द चकाचक रोड दिखने को मिलेगा लेकिन अभी आपको बता दे कि पुरे भारत में सबसे अधिक एक्सप्रेस-वे अगर किसी राज्य में है तो उत्तर प्रदेश में है | लेकिन अब बिहार भी इस मामले में पीछे नहीं रहेगा | आपको कुछ दिनों बाद बिहार में भी एक्सप्रेस-वे दिखने को मिलेगा |

1.सबसे पहले गोरखपुर सिलीगुड़ी एक्सप्रेस वे के बारे में बात करते है तो आपको बता दे की इस एक्सप्रेस वे की कुल लम्बाई लगभग 400 से थोडा अधिक किलोमीटर में होना है | और इसकी लागत की बात करें तो इसमें कुल लागत 29000 करोड़ रूपये की है | और इस एक्सप्रेस-वे को बन जाने से बिहार के लोगों को कोलकाता और उत्तरप्रदेश जाने में अहुलियत होगी |

यह भी पढ़ें  यूपीएससी रिजल्ट : बिहार के मजदूर के बेटा ने पास किया यूपीएससी परीक्षा खुशी से रोने लगी माँ

2.अब दुसरे नंबर पर आती है वाराणसी कोलकाता एक्सप्रेस-वे का निर्माण भी बहुत जल्द होना है | वहीँ आपको बता दे की यह बिहार के कैमूर,रोहतास एवं औरंगाबाद से होकर गुजरेगी | और इसकी लम्बाई की बात करें तो इसकी कुल लम्बाई 686 करोड़ रूपये होगी | और इस एक्सप्रेस-वे के बन्नने में कुल लागत तक़रीबन 19000 करोड़ लगेगी |

3.रक्सौल हल्दिया ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे रक्सौल से हल्दिया के बीच शानदार बिल्कुल नए एक्सप्रेस-वे का निर्माण किया जाएगा और यह एक्सप्रेस वे भी बिहार से होकर गुजरेगी बताया जाए कि बिहार से रक्सौल पूर्वी चंपारण, मुजफ्फरपुर, वैशाली और हाजीपुर और बांका से होकर यह एक्सप्रेस से गुजरेगी इस एक्सप्रेस वे कुल 6 लेन का होगा। इसका निर्माण 20 हजार करोड़ रुपए से किया जाएगा।

यह भी पढ़ें  बिहार के छपरा में 70 साल के दादाजी ने की धूम-धाम से दूसरी शादी, बेटा पोता नाती बने बाराती

4.पटना आरा सासाराम ग्रीन फील्ड एक्सप्रेसवे पटना आरा सासाराम के बीच इस शानदार एक्सप्रेस-वे का निर्माण होगा जिसकी कुल लंबाई 110 किलोमीटर बताई जा रही है। यह एक्सप्रेस फॉर लेन का होगा। वहीं यह एक्सप्रेस आरा रिंग रोड से जोड़कर 318 करो रुपए की लागत से इसका निर्माण किया जाना है |

यह सभी एक्सप्रेस-वे बन जाने से इन क्षेत्र के लोगों को होगा फायदा :

औरंगाबाद, गया, नालंदा, पटना, जहानाबाद, वैशाली,जमुई, जहानाबाद, दरभंगा, नवादा, नालंदा, पटना, पश्चिमी चम्पारण, पूर्णिया, पूर्वी चम्पारण, बक्सर, बाँका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, मुजफ्फरपुर, रोहतासएवं लखीसराय सहित वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारन, सीतामढ़ी, सीवान के लोग सहित पुरे बिहार वासी के लिए दुसरे राज्य जैसे दिल्ली, उत्तरप्रदेश, कोलकाता जाना आसान हो जाएगा |