कोसी-मिथिला से गुवाहाटी अब दूर नहीं, जोगबनी-कटिहार से होगी सीधी कनेक्टिविटी, जानें पूरा रूट

विकाशशील बिहार को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार बिहार सरकार के स्तर पर बिहार की अन्य राज्यों से कनेक्टिविटी विस्तार के लिए कई कार्य जारी हैं | बता दे की एक्सप्रेसवे से लेकर मल्टीमॉडल कनेक्टिविटी को प्रोत्साहन दिया जा रहा है. इसके साथ ही रेलवे भी अपनी सुविधाएं बढ़ाने के साथ ही संपर्कता के लिए विशेष कार्ययोजना पर आगे बढ़ रही है. इसी क्रम में लगभग 206 किलोमीटर लंबे सकरी-निर्मली एवं झंझारपुर-लौकहा बाजार और सहरसा-फारबिसगंज में आमान परिवर्तन का कार्य किया जा रहा है |

इन्हीं में एक है सकरी-निर्मली-झंझारपुर-लौकहा बाजार एवं सहरसा- फारबिसगंज आमान परिवर्तन परियोजना के अंतर्गत तमुरिया-घोघरडीहा की करीब 11 किमी रेल लाइन, घोघरडीहा-निर्मली की भी करीब 11किमी रेल लाइन, और ललितग्राम-नरपतगंज-फारबिसगंज की 29 किमी की रेल लाइन. इस कार्य को वर्ष 2022 में ही पूरा कर लिए जाने की संभावना है. फारबिसगंज तक रेल कनेक्टिविटी होने के बाद जोगबनी, कटिहार और गुवाहाटी से कोसी-मिथिला का सीधा रेल संपर्क उपलब्ध हो जाएगा.

यह भी पढ़ें  बिहार में पेट्रोल-डीजल की दामों में की गई बढ़ोतरी, जानें आज की ताजा भाव?

जानकारी के अनुसार पूर्व मध्य रेल द्वारा नई लाइन, दोहरीकरण, आमान परिवर्तन सहित कई निर्माण परियोजनाओं पर कार्य तेज गति से जारी है. इसी क्रम में लगभग 206 किलोमीटर लंबे सकरी-निर्मली तथा झंझारपुर-लौकहा बाजार की 94 किमी रेल लाइन एवं सहरसा-फारबिसगंज की 111 किमी रेल लाइन पर आमान परिवर्तन का कार्य किया जा रहा है.

इस परियोजना पर लगभग 1471 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है. लगभग 94 किलोमीटर लंबे सकरी-निर्मली तथा झंझारपुर-लौकहा बाजार आमान परिवर्तन परियोजना में से सकरी-मंडन मिश्र हॉल्ट जो कि 11 किमी लंबी है, मंडन मिश्र हॉल्ट-झंझारपुर करीब 09 किमी, झंझारपुर-तमुरिया के बीच 09 किमी का कार्य पूरा हो चुका है एवं शेष पर कार्य तीव्रगति से जारी है.

यह भी पढ़ें  15 दिन के अन्दर 2 लाख से अधिक शिक्षकों का होगा तबादला, शिक्षिका को मिलेगा मनचाहा जगह

आपको बता दे की इसी तरह 111 किलोमीटर लंबे सहरसा-फारबिसगंज आमान परिवर्तन परियोजना के अंतर्गत अब तक सहरसा- गढ़बरूआरी करीब 16 किमी, गढ़बरूआरी-सुपौल लगभग 11 किमी, सुपौल-सरायगढ़ के बीच 25 किमी, सरायगढ़-राघोपुर के बीच, 11 किमी एवं राघोपुर-ललितग्राम के बीच 20 किमी रेलखंड सहित अब तक कुल 83 किमी आमान परिवर्तन का कार्य पूरा कर लिया गया है.

इस परियोजना का शेष कार्य जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा. सकरी-निर्मली-झंझारपुर-लौकहा बाजार एवं सहरसा- फॉरबिसगंज आमान परिवर्तन परियोजना के अंतर्गत तमुरिया-घोघरडीहा 11 किमी रेल लाइन, घोघरडीहा-निर्मली 11किमी रेल लाइन, ललितग्राम-नरपतगंज-फॉरबिसगंज 29 किमी रेल लाइन का कार्य वर्ष 2022 में पूरा कर लिए जाने की संभावना है.

यह भी पढ़ें  बिहार में कभी हो जाता है पूल चोरी तो कभी रेलवे का तार, चुरा ले गया चोर 3 घंटे फसीं रही ट्रेनें, सैकड़ों यात्री हुए परेशान