10 साल से ऊपर से अटके हाजीपुर-छपरा फोरलेन के निर्माण का रास्ता साफ, इस साल तक बन जाने की उम्मीद

बिहार की राजधानी पटना हाजीपुर-छपरा फोर लेन एनएच का निर्माण करीब 66.74 किलोमीटर लंबाई में इस साल पूरा होने की संभावना है. इसका निर्माण करीब 50 किलोमीटर लंबाई में हो चुका है. करीब 12 साल बाद भी इसका निर्माण पूरा नहीं होने से इसकी लागत करीब दोगुनी हो चुकी है.

लागत करीब 500 करोड़ रुपए थी, अब यह करीब 1013 करोड़

2010 में जब इस की निर्माण प्रक्रिया शुरू हुई थी तो इसकी लागत करीब 500 करोड़ रुपए थी. अब यह करीब 1013 करोड़ रुपये हो चुकी है. हाल ही में पटना हाइकोर्ट ने भी इस सड़क के निर्माण में विलंब पर चिंता जाहिर करते हुए सरकार और एनएचआई को जल्द सड़क बनाने का निर्देश दिया था.

यह भी पढ़ें  बिहार में एक बार फिर बढ़ी ठंड आज और कल बारिश के आसार जानिये मौसम विभाग की रिपोर्ट

लिहाजा सभी पेच को दूर किया जा रहा है। 45 दिनों में काम पूरा करने के लिए दिन-रात प्रयास किया जा रहा है। इस बीच एनएच के चारो तरफ बाढ़ का पानी घिरा हुआ है। जिस कारण काम में अड़चन आ सकती है। जिला प्रशासन ने एनएच-19 के 1.85 किमी में बचे हुए मानपुर-मनोहरपुर,सुमेरपट्टी-हेवंतपुर में 14 घरों और अस्थायी निर्माण को हटाने का आदेश एसडीएम और एसडीपीओ को दिया है। एनएच का योजना लंबित होने की वजह से प्रदूषण प्रभाव से संबंधित मामला पर एक सुनवाई एनजीटी में भी चल रहा है।

ये भी है दिक्कतें

  • शीतलपुर के मानपुर में सड़क का नक्शा पास नहीं-आमी के सैदपुर में फोरलेन में पेड़ के मुआवजा भुगतान को ले पेंच
  • विष्णुपुरा में आरओबी के निर्माण में बाधा-छह आरओबी में से चार के निर्माण में स्थानीय पेंच
  • फोर लेन बनने से ये होंगे फायदे छपरा शहर में वाहनों का बोझ कम होगा।
  • सोनपुर के परमानंदपुर में जमीन के मुआवजा को ले है पेंच
  • सोनपुर के अपसैद, मुर्राथान में भूअर्जन का मामला लंबित
  • जाम की समस्या से निजात- सड़क दुर्घटनाओं में कमी
  • छपरा से हाजीपुर की दूरी कम समय में तय की जा सकेगी
  • आस-पास के इलाकों का विकास
यह भी पढ़ें  बिहार के इन शहरों से होकर 350 किलोमीटर प्रतिघंटा से गुजरेगी बुलेट ट्रेन, जानिये रूट