बिहार के हर गांव में लगेगा सीसीटीवी कैमरा, सुरक्षा व्यवस्था बेहतर करने के लिए सरकार कर रही तैयारी…

बिहार के गांवों को वीआईपी बनाने की तैयारी शुरू हो गई। शहरों की तर्ज पर गांवों में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। गांवों में प्राथमिकता के तौर सीसीटीवी कैमरे लगने हैं। सुरक्षा के लिए पंचायती राज विभाग ने ये फैसला लिया है। पंचायती से राज्य विभाग ने यह निर्णय लिया है इससे लोगों को काफी सुरक्षा मिलेगीउन्होंने यह भी बताया है कि शहरों वाली काफी सुविधाएं गांव को मिलेगी इसके लिए भी बहुत सारे निर्णय लिए गए हैं

गांवों में आपराधिक घटनाओं पर अंकुश लगाने, महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा मुहैया कराने आदि मकसद से सीसीटीवी कैमरे लगाये जाने की पहल पंचायती राज विभाग ने की है। ताकि कोई भी गैर कानूनी काम करे तो वह घटना कैमरे में कैद हो सके। इससे दोषी की पहचान हो जाएगी। दूसरी तरफ कैमरे का भय भी ऐसे लोगों में होगा।

यह भी पढ़ें  नए साल में सुबह 5 बजे से रात्रि 11 बजे तक खुला रहेगा पटना का महावीर मंदिर, जानें कैसे होगी एंट्री

विभाग ने यह भी साफ किया है कि सार्वजनिक स्थलों और सरकारी भवनों में सीसीटीवी लगाये जाएंगे। बिजली के पोल पर ही यथासंभव कैमरे लगेंगे। हालांकि विभाग ने यह भी कहा है कि विशेष परिस्थिति में निजी मकान के बाहरी दीवार पर भी कैमरे लगाये जा सकेंगे। निजी एजेंसी को कैमरे लगाने की जिम्मेदारी होगी।

पार्क और नाला पर भी शुरू होंगे काम :

पंचायती राज विभाग के मंत्री ने कहा कि इस राशि से गांवों में सीसीटीवी कैमरे लगाने के साथ साथ, वहां पार्क भी बनाए जाएंगे। जहां भी सरकारी खाली जमीन होगी, वहां पार्क का निर्माण कराया जाएगा। साथ ही खेल का मैदान भी बनेगा। सामुदायिक शौचालय भी पंचायतों में बनाया जाएगा। इस राशि से छठ घाटों का सौंदर्यीकरण भी किया जाएगा। मंत्री ने कहा कि ग्रामीण इलाकों में जलजमाव की स्थिति बनी रहती है। उससे निजात के लिए बड़े नालों का निर्माण कराया जाएगा। सभी फैसलों को ग्राउंड तक ले जाने के लिए जल्द ही जिलों को निर्देश दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें  बिहार को और स्वच्छ बनाने के लिए अब पढाई के सिलेबस में जुड़ेगा साफ़-सफाई का नया चैप्टर