बिहार में गाव वाले सड़कों की जानकारी नहीं देने वाले इंजीनियर पर होंगे कार्यवाई ऑनलाइन अपलोड करनी होगी स्थिति

बिहार की ग्रामीण सड़कों की वास्तविक स्थिति की जानकारी इंजीनियर नहीं दे रहे हैं। ऑनलाइन पोर्टल पर जानकारी अपलोड नहीं होने के कारण उन सड़कों की मरम्मत का काम बाधित हो रहा है। अब ग्रामीण कार्य विभाग ने ऐसे इंजीनियरों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई करने का निर्णय लिया है। अगर वो गाव की सड़कों की सही-सही जानकारी नहीं देते है | तो उन पर विभाग कार्यवाई करेगी |

बता दे की विभिन्न योजनाओं के तहत बन रही सड़कों की स्थिति पोर्टल पर ऑनलाइन अपलोड करनी होती है। इस बाबत विभाग की ओर से नियमित अंतराल पर स्मार पत्र दिया जा रहा है। लेकिन इंजीनियरों की ओर से इस आदेश की लगातार अनदेखी की जा रही है। हाल ही में हुई समीक्षा बैठक में पाया गया कि 60 कार्य प्रमंडलों की ओर से ग्रामीण सड़कों की जानकारी ऑनलाइन नहीं दी जा रही है। जबकि ऑनलाइन जानकारी देने के लिए इंजीनियरों को सभी संसाधन उपलब्ध कराए जा चुके हैं।

यह भी पढ़ें  बिहारवासियों के लिए खुशखबरी! सासाराम से आरा के रास्‍ते पटना की दूरी महज ढाई घंटे में होगी पूरी…

प्रावधान के अनुसार ग्रामीण सड़कों के निर्माण या मरम्मत के क्रम में इंजीनियरों को उसकी तस्वीर के साथ ही पूरी विवरणी देनी है। अगर निरीक्षण के दौरान किसी सड़क की मरम्मत या निर्माण में कोताही बरती गई हो तो उसकी जानकारी भी ऑनलाइन तस्वीर के साथ दी जानी है। पर इंजीनियर अब भी इस आदेश का अनुपालन सुनिश्चित नहीं कर रहे हैं। इसे देखते हुए अब विभाग ने तय किया है कि ऐसे इंजीनियरों को चिह्नित कर उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाए।