बिहार की राजधानी पटना में यहां पर बन रहा राजधानी का पहला डबल डेकर एलिवेटेड रोड

बिहार की राजधानी पटना में अभी ट्रैफिक की वयवस्था उतनी अच्छी नहीं है आपको अक्सर देखने या सुनने को मिलता होगा की जाम में फस गये | सबसे ज्यदा जाम लगने की संभावना पटना के गांधी सेतु पर रहती है | लेकिन आने वाले कुछ दिनों में आपको ऐसी समस्या नहीं देखने को मिलेगी | बता दे की राजधानी की अटल पथ बनाने वाली कंपनी गावर को इसका ठेका देने की बात की जा रही है।

अब कारगिल चौक से एनआइटी मोड़ के बीच डबल डेकर रोड बनेगी। फाइनेंसियल बीड में गावर कंपनी पहले स्थान पर रही। बिहार की राजधानी में डबल डेकर रोड बनाने में कंपनी की ओर से टेंडर में 324 करोड़ रुपये खर्च भरा गया था। बिहार राज्य पुल निर्माण निगम की देखरेख में इसे बनाया जाएगा।

यह भी पढ़ें  बिहार : 15 अप्रैल से सोलर लाइट की रौशनी से जगमगाएगा पूरा गाँव हर वॉर्ड में लगेंगी 10-10 सोलर लाइटें !

जानकारी के अनुसार इस पुल की निर्माण अगले सात से आठ दिन में सारी कागजी प्रक्रिया पूरी होने के बाद कंपनी को वर्क ऑर्डर मिलेगा। बिहार में निर्माण कार्य का आरंभ अक्तूबर में शुरू होगा और निर्माण कार्य का शिलान्यास इस माह के अंत तक होना है। लगभग 2070 मीटर की डबल डेकर रोड दो साल में इपीसी मोड में कंपनी बनायेगी।

बिहार की राजधानी पटना में डबल डेकर रोड के निर्माण के लिए पीएमसीएच की प्रसूति व हड्डी विभाग की लगभग चार मीटर जगह ली जायेगी। इसके लिए दोनों विभागों की बने बिल्डिंग को तोड़ा जायेगा

जानकारी के लिए बता दे की बिल्डिंग तोड़ने के संबंध में पीएमसीएच प्रशासन से एनओसी मिल गगा है। यंग मेंस क्लब की ओर से भी एनओसी दे दी गयी है। खुदाबख्श लाइब्रेरी को लेकर कोई समस्या नहीं है। दो साल में बननेवाले डबल डेकर रोड से अशोक राजपथ में ट्रैफिक समस्या दूर होगी।

यह भी पढ़ें  बिहार : जिस दफ्तर में मां लगाती थी झाड़ू, बेटा बना वही दफ्तर में ऑफिसर, सब कर रहे तारीफ़

बताते चले की अभी अशोक राजपथ में काफी ट्रैफिक जाम लगता है। पुल के बनने के बाद कारगिल चौक से दूसरे तल्ले से जाना व पहले तल्ले से आना होगा। कारगिल चौक से एनआइटी मोड़ जाने के लिए लोग दूसरे तल्ले वाले रोड का इस्तेमाल करेंगे। वहीं एनआइटी मोड़ से कारगिल चौक आने के लिए पहले तल्ले वाले रोड से आयेंगे। वे बीएन कॉलेज के पास उतर कर आगे बढ़ेंगे। पीएमसीएच जाने में भी लोगों को काफी