काम की बात : पटना जंक्‍शन पर यातायात की व्‍यवस्‍था में हुआ बदलाव, तीन मिनट से अधिक ठहरने पर होगी…

पटना जंक्शन पर आने-जाने वाले रेल यात्रिओ के लिए काम की खबर है है | जी हाँ दोस्तों! बता दे की राजधानी पटना के मेन गेट जिस तरफ से महावीर मंदिर है | उस तरफ पोर्टिको से पहले याता-यात आने-जाने की वयवस्था को पहले की अपेक्षा और चेंज किया गया है | इसका फायदा यह होगा की रेल यात्रियों के साथ ही उन्‍हें छोड़ने और रिसीव करने के लिए स्‍टेशन आने वाले स्‍वजनों को भी सहूलियत होगी।

अगर तय समय के अंदर आपके स्‍वजन स्‍टेशन परिसर में यात्री को उतार कर या लेकर चले जाते हैं, तो उन्‍हें कोई पार्किंग शुल्‍क भी नहीं देना होगा। जाम का सबसे मेन कारण यह है की जंक्शन पर एक साथ तीन से चार गाड़ी आने पर सभी लोग बाहर आते है | इसी वजह से जाम अधिक हो जाती है |

यह भी पढ़ें  बिहार : रेलवे देगा पढ़े-लिखे युवाओं को रोजगार बिहार के इन 28 स्टेशनों पर मिलेगा बेरोजगारों को रोजगार

पटना जंक्‍शन के मुख्‍य निकास के सामने अक्‍सर लगने वाले जाम का मुख्य कारण पोर्टिको के पास बनी नई इंट्री व एक्जिट पर जहां-तहां गाडिय़ां खड़ा कर दिया जाना है। रेलवे ने इस समस्या के निजात को साल के पहले ही दिन पहल की है। यहां पोर्टिको से पहले ही छोटा सा गोलंबर बनवाया गया है। जो भी गाड़ी इंट्री गेट से अंदर आएगी उसे तीन मिनट के अंदर यात्रियों को उतारकर बाहर निकल जाना होगा।

तीन मिनट से अधिक समय तक रेलवे स्‍टेशन पार्किंग स्‍पेस या स्‍टेशन परिसर के रास्‍ते में ठहरने पर पार्किंग शुल्क लिया जाएगा। इस गोलंबर के बनने के बाद वाहनों के प्रवेश व निकास में अधिक समय नहीं लगेगा। जिन वाहनों को तीन मिनट से अधिक रहना है उन्हें सीधे पार्किंग में भेज दिया जाएगा। इस तरह जो भी गाड़‍ियां आएंगी वह गोलंबर से घूमकर सीधे बाहर निकल जाएंगी। इससे जाम नहीं लगेगा।

यह भी पढ़ें  बिहार में तीन दिन के अन्दर पूरी तरह से सक्रिय हो जाएगा मानसून आएगा आंधी के साथ भारी बारिश