बिहार में फैक्ट्री लगाने के लिए माइक्रोमैक्स और जिंदल सहित 70 कंपनियों कर रहा रिक्वेस्ट

अब मिलेगा बिहार में ही रोजगार नहीं जाना पड़ेगा बिहार के लोगों क्र दुसरे जगह | कंपनी लगाएगी अपनी फैक्ट्री बिहार में बता दे की बिहार में फॅक्टट्री लगाने को लेकर बिहार सरकार से आम लोग लगातार यह मांग कर रही है कि बिहार में कंपनी लगाया जाए ताकि बिहार में ही लोगों को रोजगार मिल सके आपको बता दूं कि भारी संख्या में बिहार से लोग काम की तलाश में पलायन करते हैं | इसका सबसे बड़ा वजह है बिहार में फैक्ट्री की कमी होना इसी बीच जब से बिहार के नए उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन अपना पदभार संभाले हैं तब से लगातार कोसिस के वजह से बिहार में अब माइक्रोमैक्स और जिंदल सहित 70 कंपनियों ने बिहार में फैक्ट्री लगाने के लिए अपनी दिलचस्पी दिखाई है।

यह भी पढ़ें  अगले पांच सालों में अमेरिका की तरह होगी बिहार की सड़कें, इन राज्यों के लिए बनेगी कई सड़कें

जानकारी के अनुसार बिहार में जो बड़ी कंपनियां फैक्ट्री लगाने में दिलचस्पी दिखाई है उसमें देश की बड़ी-बड़ी नामचीन कंपनियां शामिल है खास बात यह है कि कई बड़ी कंपनियों ने निवेश प्रस्ताव दिए हैं। इनमें जिंदल ग्रुप की जेएसडब्ल्यू प्रोजेक्ट्स लि. शामिल है |

इसके साथ साथ फूड प्रोसेसिंग यूनिट जो देश की सबसे बड़ी कंपनी हल्दीराम भुजियावाला इसके साथ-साथ माइक्रोमैक्स बॉयो फ्यूल्स, इडेन स्मार्ट एग्रोटेक, न्यूवे होम्स, एलायंस इंडिया कन्ज्यूमर प्रोडक्ट्स, न्यूजेन बायो फ्यूल्स, बिहार डिस्टिलर्स एंड बॉलर्स इंडिया और शक्ति अर्थ मूवर्स एलएलपी शामिल हैं।

यह सभी कंपनी बिहार में फैक्ट्री लगाने में दिलचस्पी भी दिखा रही है द टाइम्स ऑफ इंडिया की खबरों के अनुसार शुक्रवार को विकास आयुक्त आमिर सुबहानी की अध्यक्षता में हुई राज्य निवेश प्रोत्साहन पर्षद (एसआईपीबी) की 29वीं बैठक में देखने को मिली। इस बैठक में 3516 करोड़ के करीब करीब 70 निवेश प्रस्ताव को स्टेज-1 क्लियरेंस प्रदान की गई। स्वीकृत प्रस्तावों में इथेनॉल व ऑक्सीजन उत्पादन समेत खाद्य प्रसंस्करण के कई प्रस्ताव शामिल हैं। इसका मतलब साफ है कि बिहार में अब करीब करीब 70 फैक्ट्री लगाने को लेकर सुरुआत हो गई है और जल्द ही इसका काम जमीनी स्तर पर देखने के लिए मिलेगा।

यह भी पढ़ें  बिहार बोर्ड मैट्रिक के परीक्षार्थी का इंतजार हुआ खत्म! जानिये काब आएगा रिजल्ट