पटना के गंगा पथ के बगल में एक और बन रहा है नया ब्रिज इन इलाके वाले लोगों को मिलेगा सहूलियत

जब आप राजधानी पटना के गंगा घाटों पर घूमते होंगे तो आपको अक्सर गंगा घाट के सामने आपको कुछ पुल निर्माण होते हुए दिखेगा आप सभी को पता होगा कि यह पुल निर्माण गंगा पथ पुल निर्माण किया जा रहा है लेकिन शायद आपको यह पता नहीं होगा कि उस गंगा पथ के बगल में एक और नया ब्रिज का निर्माण भी किया जा रहा है आपको बता दूं कि बिहार की राजधानी पटना में गंगा पथ वे का निर्माण किया जा रहा है जिसे 2022 तक पूरा कर लेने की योजना है |

इस योजना को 2007 में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बनाने की अनुमति दी थी इसकी लंबाई करीब 21 किलोमीटर बताई जा रही है वही इसके निर्माण पर करीब करीब 2234 करोड रुपए की लागत आएगी। और इस पुल के बन जाने से लोगों की बहुत सुविधा होगी जाम से मिलेगी राहत वाले लोग बार-बार दिन जाम में फंस जाने के कारण लोगों की कोई काम अच्छी तरह से नहीं हो पाती थी सही तरह से हॉस्पिटल नहीं पहुंच पाते थे वो जिसके कारण लोगों के रास्ते में ही मृत्यु हो जाती थी अभी स्कूल के बन जाने से लोगों को मिलेगी बहुत सुविधा |

यह भी पढ़ें  खुशखबरी राजधानी पटना के जैसे 16 करोड़ 11 लाख रुपया की लागत से पूर्णिया और मुजफ्फरपुर में बनेगा खादी मॉल

आपको बता दूं कि इस नए पुल को गंगा पथ से पीएमसीएच को जोड़ा जाएगा अभी फिलहाल गंगा पथ के 40 नंबर पाया से इस ब्रिज को पीएमसीएच से जोड़ा जाएगा ताकि लोग सीधा पीएमसीएच बीच के जरिए आ जा सके इससे लोगों को कहीं ना कहीं सहूलियत होगी और लोग सीधा इस पुल के जरिए आ जा सकेंगे अभी फिलहाल इसकी काम की बात करें तो अभी फिलाल इसके लिए पिलर खड़ा किए जा रहे हैं |

उसके बाद इसके अप्रोच रोड बनाए जाएंगे और इसे इस गंगा पथ से जोड़ दिया जाएगा वही गंगा पथ को पूरी तरह से 2022 में पूरा कर लेने की योजना है हालांकि अभी इस योजना में काफी देरी हो चुकी है लिहाजा इस योजना में देरी होना तय है। कारण यह कि पीएमसीएच से जोड़ने में बहुत लोगों को सुविधा होगी क्योंकि पीएमसीएच राजधानी का सबसे बड़ा हॉस्पिटल है और वह सरकारी है वहां लोगों की इलाज फ्री में की जाती है |

यह भी पढ़ें  पटना जंक्शन के पास का बन रहा सबवे लोगों को जाम से मिलेगी निजात, सरसराते हुए निकलेंगी गाड़ियां

इसलिए सरकार का विशेष ध्यान पीएमसीएच के ऊपर है कि लोग जल्दी से जल्दी पीएमसीएच तक पहुंच जाए अगर कहीं एक्सीडेंट हुआ तो वहां से उसको पीएमसीएच जाने में बहुत समय लग जाता है और बीच-बीच में जाम रहता है जिसे कारण लोग सही समय पर अस्पताल नहीं पहुंच पाते हैं तो उसी के चलते उसकी मृत्यु रास्ते में ही हो जाती है यही जाम से निजात दिलाने के लिए सरकार ने एक अहम कदम उठाया है और पुल का निर्माण शुरू है बहुत दिनों से और यह 2022 तक चालू भी हो जाएगा |