भारत का सबसे बड़ा स्‍वर्ण भंडार बिहार में मिला है, जानकारी केंद्र सरकार ने संसद में दी है | अब जल्द बिहार में आने वाली है खुशियाँ

भारत का सबसे बड़ा स्‍वर्ण भंडार बिहार में मिला है। बहुमूल्य धातु सोना की खदान में इतना स्‍टाक है, जितना देश में कही और नहीं है। यह जानकारी केंद्र सरकार ने संसद में दी है। बिहार भाजपा के अध्‍यक्ष और लोकसभा सदस्‍य संजय जायसवाल ने सदन में सरकार से जानकारी मांगी थी। उन्‍होंने पूछा था कि

देश में सर्वाधिक स्‍वर्ण भंडार क्‍या बिहार में है? उन्‍होंने पश्चिम चंपारण सहित बिहार के अन्‍य जिलों में स्‍वर्ण भंडार के सर्वेक्षण की बाबत जानकारी भी सरकार से मांगी थी। इसके जवाब में खान, कोयला एवं संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने जो जवाब दिया, वह बिहार के लोगों को खुश करने वाला है।

यह भी पढ़ें  दरभंगा से निर्मली तक कब चलेगी ट्रेन? जानें मिथिलांचल को सीमांचल से जोड़ने का कितना काम है बाकी

केंद्रीय खनन मंत्री प्रहलाद जोशी ने खुद इस बात पर मुहर लगाई है। केंद्रीय मंत्री ने बताया कि देश में कुल 501.83 टन का प्राथमिक स्वर्ण अयस्क भंडार है, जिसमें 654.74 टन स्वर्ण धातु है। इसमें 44 फीसद सोना अकेले बिहार में ही पाया गया है।

बिहार के जमुई जिले के सोनो क्षेत्र में 37.6 टन धातु अयस्क सहित 222.885 मिलियन टन स्वर्ण धातु से संपन्न भंडार मिला है। ऐसे में इस बात पर मुहर लग जाने के बाद इस इलाके के लोगों का खुश होना तो लाजिमी है। स्थानीय लोगों में उम्मीद जगी है कि अब सिर्फ यहां के लोगों की ही नहीं बल्कि पूरे बिहार की सूरत बदल जाएगी। 

यह भी पढ़ें  खुशखबरी बिहार के स्कूलों में 8 हजार से ज्यादा शारीरिक शिक्षकों की होगी बहाली जानिये डिटेल

संजय जायसवाल ने लोकसभा से मिले उत्‍तर का पत्र अपने इंटरनेट मीडिया अकाउंट पर साझा किया है। इसमें केंद्रीय मंत्री के हवाले से बताया गया है कि देश में कुल 501.83 टन का प्राथमिक स्‍वर्ण अयस्‍क भंडार है, जिसमें 654.74 टन स्‍वर्ण धातु है। इसमें 44 फीसद सोना तो केवल बिहार में ही पाया गया है। राज्‍य के जमुई जिले के सोनो क्षेत्र में 37.6 टन धातु अयस्‍क सहित 222.885  म‍िलियन टन स्‍वर्ण धातु से संपन्‍न भंडार मिला है।