बिहार में बन रहे फोरलेन मुजफ्फरपुर-बरौनी मार्ग में होटल और पक्के के मकान सरकार ने उठाई ये कदम…

बिहार में बनने वाले फोरलेन एनएच-28 के मुजफ्फरपुर-बरौनी खंड को फोरलेन बनाने की प्रक्रिया शुरू गई है, लेकिन बिहार में बन रहे इस फोरलेन को पूरा करने के बीच में ही बाधा पंहुच रही है। इसे देखते हुए अतिक्रमण हटाने को लेकर भी रणनीति बनाई जा रही है। इसमें सभी पक्का निर्माण वालों को एनएचएआइ की ओर से नोटिस भेजा गया है। कच्ची-पक्की इलाके में सर्वाधिक अतिक्रमण है। वहीं खबरा क्षेत्र का एक बड़ा होटल भी इस सूची में है।

जानकरी के अनुसार बिहार में बन रहे यह फोरलेन मुजफ्फरपुर-बरौनी में बहुत अतिक्रमण है करीब डेढ़ सौ फीट के लिए एनएचएआइ के पास जमीन अधिग्रहित है। एनएचएआइ के अधिकारिओ का कहना है कि फोरलेन के लिए जमीन अधिग्रहण करने की जरूरत नहीं है। इसके लिए पहले से जमीन उपलब्ध है। कहीं-कहीं इसकी जरूरत पड़ सकती है। परेशानी का कारण है |

यह भी पढ़ें  बिहार की राजधानी पटना जंक्शन पर बनेगा मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट हब, अब महावीर मंदिर पटना के पास नहीं लगेगा जाम

कई जगहों पर अतिक्रमण। कच्ची-पक्की के छह दुकानदारों महेंद्र कुमार, डा. रघुवंश कुमार, मो. शब्बीर, नंद किशोर पासवान, लालू महतो एवं देवेंद्र पासवान को नोटिस दिया गया है। इस मामले में सांसद अजय निषाद की ओर से दुकानदारों को कुछ समय देने का आग्रह किया गया था। एनएचएआइ ने उन्हें इसका जवाब भेजा है। इसमें कहा गया है कि पिछले वर्ष ही इन दुकानदारों को नोटिस दिया गया था। उन्हें पर्याप्त समय दे दिया गया। अब फोरलेन निर्माण को देखते हुए अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई होगी।