अच्छी खबर : बिहार में मार्च तक बीआरसी एवं सीआरसी के सभी खाली पद भरे जाएंगे बेरोजगारी में आएगी कमी

बिहार में पढ़े लिखे लोगों के लिए अच्छी खबर है जी हाँ दोस्तों बिहार सरकार के शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने कहा कि मार्च तक प्रदेश के सभी प्रखंड संसाधन केंद्रों और संकुल संसाधन केंद्रों के खाली पदों को भर दिया जाएगा। अभी 45 प्रतिशत पद खाली हैं।

बता दे की शनिवार को अभिलेख भवन में मिड डे मील योजना का कार्यान्वयन के लिए लागू सिंगल नोडल एकाउंट सिस्टम के संचालन हेतु दो दिवसीय मास्टर ट्रेनर प्रोग्राम का उद्घाटन के दौरान उन्होंने यह बात कही। सरकार स्‍कूलों में मध्‍याह्न भोजन योजना को और बेहतर बनाने के लिए लगातार प्रयास में जुटी है। शिक्षा विभाग के बड़े अधिकारी के इस बयान से सीआरसी और बीआरसी में कार्य निष्‍पादन की गुणवत्‍ता सुधरने की उम्‍मीद बढ़ गई है।

यह भी पढ़ें  बिहार को मिलेगा हाईस्पीड रोड का सौगात, लगभग 3 हजार करोड़ की लागत से होगा निर्माण

उन्होंने कहा कि सिंगल नोडल एकाउंट का संचालन और मिड डे मील योजना के क्रियान्वयन में कुशलता से कार्य करें। नई व्यवस्था को बेहतर ढंग से लागू करें। उम्मीद है कि जो मास्टर ट्रेनर तैयार हो रहे हैं वो निचले स्तर पर जाकर बेहतर कार्य करेंगे। उन्‍होंने कहा कि व्‍यवस्‍था को सुचारू और पारदर्शी बनाने के लिए सभी का सहयोग और सहभागिता जरूरी है।

अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने कहा कि प्रारंभिक विद्यालयों में 60 प्रतिशत बच्चे ही पका-पकाया भोजन खा रहे थे। वहीँ खाद्यान्न वितरण में लाभार्थी बच्चों की संख्या 80 प्रतिशत हो गई। जब इसका अध्ययन कराया गया तो 20 प्रतिशत बच्चों की वृद्धि सही निकली। अब विद्यालयों में बच्चों को मिड डे मील की निगरानी भी पोर्टल एप से करायी जाएगी। कार्यक्रम में शिक्षा सचिव असंगबा चुबा आओ, विशेष सचिव व मिड डे मील निदेशक सतीश चंद्र झा, सहायक निदेशक अजय कुमार झा समेत अन्य अधिकारी मौजूद थे।

यह भी पढ़ें  बिहार के भागलपुर एयरपोर्ट से 3 मई से शुरू होगी हवाई संचालन, जानिये कहाँ-कहाँ के लिए मिलेगी फ्लाइट