साफ पीने का पानी लोगों तक पहुंचाने के मामले में बिहार सबसे बेहतर राज्य: जल संसाधन मंत्री

बिहार (bihar) के जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने बुधवार को कहा कि लोगों को स्वच्छ एवं शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के मामले में यह प्रदेश ऐसे शीर्ष बिहार में से एक हो गया है. आपको बता दे की जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने बुधवार को ट्वीट किया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की बड़ी सोच ‘हर घर नल का जल’ ने बिहार (bihar) के 87 प्रतिशत ग्रामीण परिवारों के लिए नल के पानी का कनेक्शन सुनिश्चित किया है और यह सात निश्चय कार्यक्रम में से एक है जिसे सितंबर 2016 में शुरू किया गया था.


उन्होंने कहा, ‘‘मुख्यमंत्री की इस सोच के लिए उन्हें धन्यवाद. जानकारी के लिए बता दे की बिहार (bihar) के 87 प्रतिशत ग्रामीण परिवारों को स्वच्छ नल का पानी उपलब्ध है.’’ झा ने कहा कि बिहार (bihar) में हर घर नल का जल योजना के तहत 152.16 लाख, जल जीवन मिशन के तहत 8.44 लाख और एनआरडीडब्ल्यूपी के तहत 2.32 लाख लोगों को पीने के पानी के नल का कनेक्शन उपलब्ध कराया गया है.

यह भी पढ़ें  बिहार के राजगीर में बन रहे क्रिकेट स्टेडियम का 16 साल में आधा काम हुआ पूरा

उन्होंने कहा ,‘‘ जल जीवन योजना के तहत बिहार ने कुल 114651 ग्रामीण वार्डों में से 4891 वार्डों में काम किया जा चुका है. भारत सरकार के राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल आपूर्ति कार्यक्रम (एनआरडीडब्ल्यूपी) के तहत 1346 वार्डों को लिया गया. शेष 108414 वार्ड राज्य सरकार की हर घर नल का जल योजना के अंतर्गत आते हैं.’’

2024 तक सभी ग्रामीण घरों में नल का पानी उपलब्ध कराना लक्ष्य

अपने ट्विटर हैंडल पर एक अखबार की रिपोर्ट साझा करते हुए कहा कि ग्रामीण घरों में नल के पानी की उपलब्धता के मामले में बिहार अब देश के शीर्ष चार राज्यों में शामिल हो गया है.

यह भी पढ़ें  बिहार : राजधानी पटना में डीजल से चलने वाली बसों होगी CNG में कन्वर्ट चलेंगे नए बस भी !

यह रिपोर्ट दो साल पहले शुरू की गई नरेंद्र मोदी सरकार की एक महत्वाकांक्षी परियोजना जल जीवन मिशन (जेजेएम) की वेबसाइट पर उपलब्ध कराए गए आंकड़ों पर आधारित है . मिशन का उद्देश्य 2024 तक देश के सभी ग्रामीण घरों में नल का पानी उपलब्ध कराना है.

जेजेएम के आंकड़ों के अनुसार देश भर में दिए गए 4.73 करोड़ पानी के कनेक्शन में से बिहार में 1.46 करोड़ कनेक्शन दिए गए हैं जो राष्ट्रीय औसत 41.57 प्रतिशत से काफी ऊपर है. हरियाणा (99.25 प्रतिशत) के अलावा केवल गोवा और तेलंगाना ने 100 प्रतिशत सफलता दर के साथ बिहार से बेहतर प्रदर्शन किया है.

यह भी पढ़ें  बिहार के पहली हेरोइन नीतू चंद्रा को हॉलीवुड सिनेमा में मिला लीद रोल, CM नितीश कुमार ने दी शुभकामनाये