अपनी पत्नी के लिए IAS ने छोड़ा DM का पद, फिर पलटी किस्मत और दोनों बन गए जिला मजिस्ट्रेट और आज…

आईएएस अफसर स्वाति एस भदौरिया को अपनी सादगी और प्रतिभा की वजह से उम्दा प्रशासनिक अधिकारी के तौर पर जाना जाता है. स्वाति के पति नितिन भदौरिया भी आईएएस अधिकारी हैं और उन्होंने पत्नी के लिए डीएम का पद छोड़ दिया था. इसके बाद दोनों की किस्मत ने ऐसी पलटी और फिर पति-पत्नी जिला मजिस्ट्रेट बन गए |

यूपीएससी पाठशाला की रिपोर्ट के अनुसार, उत्तर प्रदेश के गोरखपुर की रहने वाली स्वाति भदौरिया की शुरुआती पढ़ाई गोरखपुर के लिटिल फ्लावर स्कूल से ही हुई. इसके बाद उन्होंने लखनऊ के आईआईटी से इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग में बीटेक ऑनर्स की पढ़ाई की |

यह भी पढ़ें  ‘हिन्दू-मुस्लिम एकता’: मुस्लिम युवक ने हिन्दू लड़के की जान बचाने के लिए दान में दे दी किडनी..!

उन्होंने जब पहली बार आईएस की परीक्षा दिए तो वह एक नंबर से यूपीएससी परीक्षा पास करने में चूक गईं. इसके बाद 2012 की परीक्षा में उन्होंने ऑल इंडिया में 74वीं रैंक हासिल कीं और छत्तीसगढ़ कैडर की आईएएस अफसर बनीं.

आईएएस बनने के बाद स्वाति श्रीवास्तव (Swati Srivastava) की शादी आईएएस नितिन भदौरिया से हो गई. नितिन भदौरिया (Nitin Bhadauria) साल 2011 बैच के आईएएस अधिकारी हैं और उत्तराखंड में पोस्टेड हैं. 

इसके बाद साल 2018 में किस्मत पलटी और दोनों को डीएम पद का चार्ज मिला. स्वाति भदौरिया (Swati Bhadauria) चमोली जिले की जिलाधिकारी बनाई गईं,

जबकि नितिन भदौरिया (Nitin Bhadauria) ने अल्मोड़ा के जिला मजिस्ट्रेट का पदभार ग्रहण किया. काम को लेकर दोनों हमेशा एक-दूसरे के साथ खड़े नजर आए.

यह भी पढ़ें  क्या आप जानते है महाभारत युद्ध कुल कितने दिनों तक चला था ?