दिल्ली में जल्दी ही 1500 और इलेक्ट्रिक बस, इलेक्ट्रिक चार्जिंग का इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार, ई-रिक्शा को फायेदा.

दिल्ली में इलेक्ट्रिक गाड़ियों को बढ़ावा देने के लिए दिल्ली सरकार दिन-रात काम कर रही है. जगह जगह चार्जिंग स्टेशन , बैटरी स्वापिंग स्टेशन और चार्जिंग पॉइंट इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार किया जा रहा है. लक्ष्य यह है की साल 2024 तक दिल्ली में प्रत्येक 4 में से एक गाडी इलेक्ट्रिक हो. इलेक्ट्रिक व्हीकल पालिसी के कारण दिल्ली में इलेक्ट्रिक वाहनों के रजिस्ट्रेशन में कई गुणा का इजाफा हुआ है.

साल 2021 में 944 इलेक्ट्रिक गाड़ियाँ रजिस्टर हुई थी. जिसमे से 206 दो पहिया और 143 चार पहिया वाहन है. इस साल 2022 में इलेक्ट्रिक गाड़ियों के रजिस्ट्रेशन में 6 गुणा बढ़ोतरी देखी जा रही है. इस साल अभी तक 4,455 इलेक्ट्रिक गाडी दिल्ली सरकार के यहाँ रजिस्टर हुई है. जिसमे से प्राइवेट कार, इलेक्ट्रिक स्कूटी , ई-रिक्शा, ई-ऑटो, ई-टैक्सी, पब्लिक इलेक्ट्रिक बस आदि गाड़ियों है.

यह भी पढ़ें  दिल्ली गुरुग्राम राजीव चौक से सोहना के लिए Rs.100 से अधिक टोल चार्ज, 12 मिनट में 22 किलोमीटर

जैसे-जैसे इलेक्ट्रिक वाहन दिल्ली के रोड पर बढ़ेगी वैसे-वैसे वायु प्रदुषण और ध्वनि प्रदुषण कम होने लगेगा. इलेक्ट्रिक गाड़ियों के चार्जिंग के लिए पुरे दिल्ली में बड़े पैमाने पर इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवेलोप किया जा रहा है. अब लोग चार्जिंग पॉइंट अपने घर में भी लगवा सकते है. पब्लिक हाउसिंग सोसाइटी में भी चार्जिंग पॉइंट लगा सकते है.

सार्वजनिक बस की बात करे तो अभी तक लगभग 150 इलेक्ट्रिक बस कई रूटों पर कार्यरत है. बस के चार्जिंग के लिए कुछ जगह पर पॉइंट भी बन चूका है. मुंडेला कलां, रोहिणी सेक्टर-37 और राजघाट-2 डिपो में इलेक्ट्रिक बस की सारी चार्जिंग के फैसिलिटी तैयार कर ली गई है.

  • ई-रिक्शा पैसेंजर – 19,814
  • ई-रिक्शा कमर्शल – 5991
  • बाइक/स्कूटर – 23,140
  • कैब – 1626
  • प्राइवेट कारें – 3022
  • गुड्स ऑटो – 2727
  • पैसेंजर ऑटो – 279
  • बस – 256
  • अन्य इलेक्ट्रिक गाड़ियां – 312
  • टोटल – 56,888
यह भी पढ़ें  अगर आपके भी घर के पंखे की स्पीड है कम तो बढ़ाने के लिए अपनाएं ये तरीका, बिजली बिल भी होगा कम

दिल्ली में चार्जिंग इन्फ्रास्ट्रक्चर

  • चार्जिंग स्टेशंस – 573
  • चार्जिंग पॉइंट्स – 812
  • बैटरी स्वैपिंग स्टेशंस – 31