LIC ने लाया अपना जबरदस्त प्लान मात्र 5 हजार जमा करने पर मिलेंगे जबरदस्त बेनिफिट्स, साथ में बोनस भी

अभी के समय में सभी लोग अपने कमाई के कुछ पैसे अपने भविष्य के खातिर सेव करते है क्योंकि आगे उनको जब भी पैसे की जरूरत पड़े तो काम आये इसी कड़ी में भारत में सबसे बड़ी बीमा कंपनी एलआईसी  (LIC) ने शुक्रवार को बीमा रत्न  योजना (Bima Ratna) नाम की एक नई पॉलिसी की शुरुआत की है।

बीमा रत्न एक गैर-लिंक्ड, गैर-पार्टिसिपेटेड, पर्सनल, बचत जीवन बीमा योजना है। इस योजना में ग्राहकों को सुरक्षा और बचत दोनों की सुविधा मिलेगी। बता दें कि एलआईसी के इस प्रोडक्ट को कॉर्पोरेट एजेंट्स, बीमा मार्केटिंग फर्मों (आईएमएफ), एजेंट्स, सीपीएससी-एसपीवी और पीओएसपी-एलआई के माध्यम से खरीदा जा सकता है। 

एलआईसी की बीमा रत्न योजना पॉलिसी अवधि के दौरान पॉलिसीधारक की दुर्भाग्यपूर्ण मृत्यु के मामले में परिवार के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करती है। साथ ही  विभिन्न वित्तीय जरूरतों को पूरा करने के लिए गारंटीड बोनस की सुविधा भी प्रदान करती है। इसके अलावा, योजना लोन सुविधा के माध्यम से लिक्विडिटी की जरूरतों का ख्याल रखती है।

यह भी पढ़ें  बिहार की बेटी अदिति को फेसबुक ने बड़ा तोहफा दिया है....1.6 करोड़ का पैकेज दिया है |

जानिए बीमा रत्न योजना पॉलिसी के बारे में

  1. डेथ बेनेफिट्स
    एलआईसी योजना शुरू होने की तारीख के बाद पॉलिसी अवधि के दौरान बीमित व्यक्ति की मृत्यु पर मृत्यु लाभ भुगतान की पेशकश करता है। एलआईसी मृत्यु पर बीमित राशि को मूल बीमा राशि के 125% से अधिक या वार्षिक प्रीमियम के 7 गुना के रूप में परिभाषित करता है। यह मृत्यु लाभ भुगतान मृत्यु की तारीख तक भुगतान किए गए कुल के 105% से कम नहीं होगा।
  1. Survival बेनेफिट्स: यदि योजना की अवधि 15 वर्ष है तो एलआईसी प्रत्येक 13वें और 14वें पॉलिसी साल के अंत में मूल बीमा राशि का 25% भुगतान करेगी। 20 साल की टर्म प्लान के लिए, एलआईसी 18वें और 19वें पॉलिसी सालों में से प्रत्येक के अंत में मूल बीमा राशि का 25% भुगतान करेगी। यदि पॉलिसी योजना 25 वर्षों के लिए है, तो एलआईसी प्रत्येक 23वें और 24वें पॉलिसी वर्ष के अंत में समान 25% का भुगतान करेगी।
  2. मैच्योरिटी बेनेफिट्स: अगर कोई बीमित व्यक्ति मैच्योरिटी की तय डेट तक जीवित रहते हैं तो “मैच्योरिटी पर बीमा राशि” के साथ-साथ अर्जित गारंटीड एडिशन का भी भुगतान होगा। इस पॉलिसी के तहत, पहले साल से लेकर 5 साल तक प्रति 1,000 रुपये पर 50 रुपये का गारंटीड बोनस दिया जाएगा। जबकि 6वें से 10वें पॉलिसी वर्ष तक, एलआईसी 55 रुपये बोनस और इसके बाद मैच्योरिटी की अवधि तक 60 रुपये प्रति हजार सालाना बोनस देगा। हालांकि, अगर प्रीमियम का भुगतान विधिवत नहीं किया जाता है, तो पॉलिसी के तहत गारंटीड एडीशन्स मिलना बंद हो जाएगा।
  3. एलिजिबिलिटी और अन्य शर्तें:
  4. एलआईसी 5 लाख रुपये की न्यूनतम मूल बीमा राशि प्रदान करता है। अधिकतम मूल बीमित राशि की कोई सीमा नहीं है। हालांकि, यह ₹25,000 के गुणकों में होगी।
  5. पॉलिसी की अवधि 15 साल, 20 साल और 25 साल के लिए है। हालांकि, पॉलिसी अवधि 15 और 20 साल होगी यदि पॉलिसी POSP-LI/CPSC-SPV के माध्यम से प्राप्त की जाती है।
  6. बीमा रत्न के तहत, 15 साल की पॉलिसी अवधि के लिए आपको 11 वर्ष तक प्रीमियम भुगतान करना होगा। जबकि 20 साल और 25 साल के लिए प्रीमियम भुगतान अवधि 16 साल और 21 साल है। बीमा रत्न पॉलिसी की न्यूनतम उम्र 90 दिन और अधिकतम उम्र 55 साल है।
  7. पॉलिसी की मैच्योरिटी के लिए न्यूनतम आयु 20 वर्ष है। जबकि पॉलिसी अवधि 25 वर्ष के लिए मैच्योरिटी आयु ₹25 वर्ष है। परिपक्वता के लिए अधिकतम आयु 70 वर्ष है।
  8. पॉलिसी के तहत मासिक, त्रैमासिक, अर्ध-वार्षिक और वार्षिक किश्तें हैं। न्यूनतम मासिक किस्त ₹5,000 है, जबकि त्रैमासिक यह ₹15,000, अर्ध-वार्षिक ₹25,000, और वार्षिक ₹50,000 है।
यह भी पढ़ें  रेलवे ने ख़त्म किये 72 हजार से अधिक पद, अब 1.5 लाख से अधिक पदों पर कभी नहीं होगी रेलवे में भर्ती