सहारा इंडिया में फंसे हैं आपके भी पैसे, तो सरकार द्वारा जारी इस नंबर पर करें कॉल जानिये डिटेल्स….

सहारा इंडिया में लाखो लोगों का पैसा फंसा हुआ है | इसीलिए सहारा इंडिया परिवार में फंसे लोगों के पैसों के लिए झारखंड सरकार के वित्त विभाग ने हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। इस हेल्पलाइन नंबर पर सहारा के अलावा दूसरे नॉन बैंकिंग कंपनियों और कॉर्पोरेटिव सोसाइटी के विरुद्ध शिकायतों को भी दर्ज कराया जा सकता है। लाखों लोगों ने इस भरोसे सहारा में अपना पैसा निवेश किया था कि हमारा आने वाला कल बेहतर हो उन्हें उम्मीद थी कि मैच्योरिटी पीरियड के बाद कंपनी इस पैसे को वापस करेगी तो वे इस पैसे से अपने अधूरे सपने, अधूरे कार्य पूरे करेंगे, लेकिन हुआ इसका ठीक उल्टा। हू कम्पनी समय पूरा होने के बाबजूद भी पैसा वापस नहीं कर रही है |

कभी देश की सबसे बड़ी कंपनियों में शुमार रही सहारा परिवार में देश के लाखो लोगो ने निवेश किया था परन्तु कंपनी के कामकाज में पारदर्शिता ना होने और वित्तीय अनियमितता के कारण लोगो के पैसे फँस गए थे। अब झारखण्ड सरकार द्वारा इन सभी लोगो को राहत देते हुये हेल्पलाइन नंबर जारी कर दिया गया है। इस नंबर पर ना सिर्फ सहारा परिवार बल्कि दूसरी वित्तीय कंपनियों और सहकारी संगठनो के धोखाधड़ी के खिलाफ भी शिकायत दर्ज की जा सकती है।

यह भी पढ़ें  करार किये हुए हो गए दो साल से अधिक लेकिन अभी तक नहीं शुरू हुआ बिहार में इन 10 आरओबी का निर्माणकार्य


सरकार द्वारा लोगो के रिफंड को लेकर कड़े कदम उठाये जा रहे है ऐसे में सभी निवेशकों को भी अपनी रकम को वापस मिलने की आस जगी है। झारखंड सरकार के वित्त विभाग ने नॉन बैंकिंग कंपनियों और कॉर्पोरेटिव सोसाइटी के विरुद्ध शिकायत दर्ज करवाने के लिए एक पुलिस हेल्प लाइन नंबर 112 जारी किया है। जिसके तहत जिन लोगों ने सहारा इंडिया परिवार में पैसा जमा किया है और वह अब शिकायत करना चाहते हैं तो वह इस हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करके इसका लाभ उठा सकते हैं।


यदि आप भी झारखंड के रहने वाले हैं और सहारा में आपका भी पैसा फंसा है तो अब निराश होने की जरूरत नहीं है। सरकार अब सहारा इंडिया के रिफंड को लेकर एक्शन मोड में है। आपको बता दें कि सहारा के पीड़ित निवेशकों से शिकायत मिलने के पश्चात राज्य वित्त विभाग सीआईडी (आर्थिक अपराध शाखा, झारखंड) के साथ मिलकर इस शिकायत की जांच करेगा एवं शिकायतों के निस्तारण में सहायता करेगा।

यह भी पढ़ें  पुरे बिहार में भारतीय रेलवे को यह पांच स्टेशन देता है सबसे अधिक पैसा देखिये लिस्ट....

सेबी 138.07 करोड़ ही वापस कर पाया

सरकार ने संसद में बताया क‍ि सेबी (SEBI) सहारा के न‍िवेशकों को अब तक ब्‍याज समेत कुल 138.07 करोड़ रुपये ही वापस कर पाया है. एक प्रश्‍न का जवाब देते हुए वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी (Pankaj Choudhary) ने सोमवार को बताया कि सहारा इंडिया रियल एस्टेट कॉर्पोरेशन लिमिटेड (SIRECL) ने 232.85 लाख निवेशकों से 19400.87 करोड़ रुपये और सहारा हाउसिंग इन्वेस्टमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड ने 75.14 लाख निवेशकों से 6380.50 करोड़ रुपये एकत्र‍ित किए.

31 दिसम्बर तक खाते में 15,503.69 करोड़ रुपये जमा किए :

हाईकोर्ट के 31 अगस्त 2012 के आदेश और उसके बाद के आदेशों के अनुसार, सहारा इंडिया ने निवेशकों से जमा की गई 25,781.37 करोड़ की मूल राशि के मुकाबले 31 दिसंबर, 2021 तक ‘सेबी-सहारा रिफंड’ खाते में 15,503.69 करोड़ रुपये जमा किए हैं |

कुल 19,644 आवेदन प्राप्त हुए

वित्त राज्यमंत्री ने कहा सेबी को 81.70 करोड़ रुपये की कुल मूल राशि के लिए 53,642 ओरिजिनल बॉन्ड सर्टिफिकेट / पास बुक से जुड़े 19,644 आवेदन प्राप्त हुए हैं. इनमें से सेबी ने 138.07 करोड़ रुपये की कुल राशि 48,326 ओरिजिनल बॉन्ड सर्टिफिकेट / पासबुक वाले 17,526 एलिजिबल बॉन्डहोल्डर्स को रिफंड किया है.

यह भी पढ़ें  बिहार बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर को बिहार की परीक्षा वयवस्था में सुधार के लिए pm मोदी करेंगे सम्मानित

डाटा ट्रेस नहीं हो पा रहा

सरकार ने बताया क‍ि बाकी शेष आवेदन या तो SIRECL और SHICL द्वारा उपलब्ध कराये गए दस्तावेजों और डाटा में उनका रिकॉर्ड ट्रेस नहीं हो पाने के कारण या सेबी द्वारा पूछे गए प्रश्नों को लेकर बांडहोल्डर्स से कोई प्रतिक्रिया प्राप्त नहीं होने के कारण बंद कर दिए गए.

निवेशकों को कब मिलेगा उनका पैसा?

सबसे बड़ा सवाल है कि सहारा के निवेशकों को कब मिलेगा पैसा दरअसल सहारा इंडिया के निवेशकों को उनका पैसा कब वापस मिलेगा के सवाल के जवाब में वित्त मंत्रालय में राज्य मंत्री भागवत कराड ने कहा कि सिक्योरिटी एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया ने सहारा इंडिया रियल एस्टेट कॉर्पोरेशन लिमिटेड और सहारा हाउसिंग इन्वेस्टमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड नाम की दो विशेष सहारा कंपनियों से संबंधित आदेश जारी किए हैं |